करतारपुर गलियारा: पाकिस्तान ने फिर अड़ाई टांग, ऐन वक्त पर टली ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

श्री करतापुर साहिब गुरूद्वारे के दर्शन के लिए रविवार से शुरू होने वाली रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को ऐन वक्त पर टाल दी गई है। जिसके पीछे की वजह कॉरिडोर को लेकर अंतिम मसौदे पर सहमति न बनना बताया जा रहा है।

0
59
kartarpur

नई दिल्ली। श्री करतापुर साहिब गुरूद्वारे के दर्शन के लिए रविवार से शुरू होने वाली रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को ऐन वक्त पर टाल दी गई है। जिसके पीछे की वजह कॉरिडोर को लेकर अंतिम मसौदे पर सहमति न बनना बताया जा रहा है।दरअसल, पाकिस्तान ने करतारपुर गलियारे को लकर भारत के सामने भारतीय श्रद्धालुओं से 20 अमेरिकी डाॅलर वसूलने की शर्त रखी है। लेकिन, भारत शुरू से ही पाकिस्तान के इस प्रस्ताव का विरोध करता रहा है। हांलाकि पाक अब भी अपनी मांग पर अड़ा हुआ है।

बता दे कि भारत-पाकिस्तान के अधिकारियों ने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर तीन बैठकें की है। अंतिम बैठक के दौरान पाकिस्तान की ओर से प्रति श्रद्धालु से सेवा शुल्क के नाम से 20 डॉलर फीस वसूलने की शर्त रखी थी। जिसे भारतीय अधिकारियों ने तुरंत मानने से इनकार कर दिया था।

भारत का कहना था कि करतारपुर कॉरिडोर सिख धर्म के संस्थापक श्री गुरु नानक देव जी ने स्थापित है और गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए बनाया गया है। दुनिया में किसी भी देश में धार्मिक कॉरिडोर पर एंट्री फीस नहीं वसूली जाती है। लेकिन पाकिस्तान अब भी अने रूख पर कायम है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ नवंबर को डेरा बाबा नानक पहुंचकर करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे। वहीं पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान 9 नवंबर को अपनी तरफ कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का अपने सभी विधायकों, सांसदों और कुछ चुनिंदा अधिकारियों के साथ इसी कॉरिडोर से गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन करने भी जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here