करतारपुर काॅरिडोर पर आज होगा फैसला, बाघा बाॅर्डर पर चल रही बात

0
26
kartarpur

नई दिल्ली। करतापुर काॅरिडोर को लेकर भारत और पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल की दूसरे दौर की अहम बैठक अटारी-बाॅघा बाॅर्डर पर चल रही है। इस बैठक में भारत खालिस्तानी आतंकियों के मुद्दे को उठाएगा। हालांकि भारत के दबाव के आगे पाकिस्तान नरम पड़ा और खालिस्तान समर्थक आतंकी गोपाल चावला को पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से हटा दिया है।

पिछले साल करतारपुर कॉरिडोर को बनाने पर दोनों देशों के बीच सहमति बनी थी। इसे नवंबर में गुरुनानक देवजी के 550वें जन्मोत्सव तक पूरा करने की कोशिश की जा रही है। इसी को लेकर दोनों देशों के बीच सीमा पर अहम बैठक हो रही है। इस बैठक में भारत की ओर से संयुक्त सचिव एससीएल दास और दीपक मित्तल होंगे. वहीं पाकिस्तान की ओर से साउथ एशिया सार्क के डायरेक्टर जनरल डॉ. मोहम्मद फैजल होंगे।

इस दौरान भारत पाकिस्तान के सामने ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालुओं के आने-जाने और उनकी सुरक्षा का मुद्दा भी उठाएगा। इस बातचीत के दौरान भारत खालिस्तान का मुद्दा भी प्रमुखता से उठाएगा।

करतारपुर कमेटी से गोपाल चावला को निकाला

करतारपुर काॅरिडोर को लेकर भारत और पाकिस्तान में लगातार चर्चाएं चल रही है। इसी संबंध में 14 जुलाई को दोनों देशों के बीच अहम वार्ता होना है। इससे पहले भारत के दबाव के चलते पाकिस्तान ने खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला को पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से हटा दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक खालिस्तानी समर्थक गोपालसिंह चावला भारत का दुश्मन नंबर वन आतंकी हाफिज सईद और जैश सरगना मसूद अजहर का करीबी है।

इतना ही नहीं, पाकिस्तान आर्मी और आईएसआई के अधिकारियों से भी चावला की नजदीकी है। गोपाल चावला की पहुंच प्रधानमंत्री कार्यालय तक है। वह पाकिस्तानी पीएम इमरान खान से सीधे मुलाकात करता है। बताया जा रहा है कि आईएसआई गोपाल सिंह चावला का इस्तेमाल पंजाब में खालिस्तानी और अलगाववादी भावनाओं को भड़काने के लिए करती रहती है। कुछ महीने पहले गोपाल सिंह चावला की तस्वीरें पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर बाजवा के साथ सामने आई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here