कर्नाटक स्पीकर ने विधायकों के इस्तीफे पर मांगा वक्त, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिका

0
65

कर्नाटक के स्पीकर को सर्वोच्च न्यायालय से बड़ा झटका लगा है। बता दे कि कोर्ट ने कर्नाटक स्पीकार केआर रमेश कुमार की उस याचिका को खारिज कर दिया है जिसमें विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लेने के लिए और अधिक समय की मांग की गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने स्पीकर को निर्देश दिए हैं कि वह विधायकों के इस्तीफे पर जल्द फैसला ले और कोर्ट को अवगत कराएं। इसके अलावा कोर्ट ने कर्नाटक पुलिस को बागी विधायकों की सुरक्षा सुनिश्चित कराने के लिए भी निर्देश दिए हैं।

वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने स्पीकर की तरफ से पैरवी की और कोर्ट के आदेश पर विरोध जताया। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकाजुन खड़गे का कहना है कि कोर्ट के आदेश और नियमों को ध्यान में रखते हुए स्पीकर द्वारा विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लिया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने गुरूवार को अपने अन्य फैसले में बागी विधायकों को शाम छह बजे स्पीकर के सामने पेश होने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि वह स्पीकर से मिलकर उन्हें अपने इस्तीफे का कारण बताएं। सुप्रीम कोर्ट ने स्पीकर से आज ही विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लेने को कहा है। इस मामले की अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को करेगा।

गौरतलब है कि कर्नाटक में लगातार सियासी नाटक जारी है जिसके चलते बुधवार को कांग्रेस के दो और विधायको ने पार्टी का साथ छोड़ दिया है। जिसके बाद कुमारस्वामी सरकार में विधायकों की संख्या घटकर 101 रह गई है। बता दे कि इस्तीफा देने वाले दो विधायकों में सुधाकर और एमटीबी नागराज शामिल है। अब तक कुल 16 विधायक अपना इस्तीफा दे चुके हैं. जिसमें 13 कांग्रेस के और 3 जनता सेकुलर दल के विधायक शामिल है।

अगर कांग्रेस-जेडीएस के 16 विधायकों के इस्तीफे मंजूर कर लिए जाते हैं तो विधानसभा में कुल 208 सदस्य ही रह जाएंगे। वहीं विधानसभा अध्यक्ष को छोड़ दें तो यह संख्यां 207 रह जाएगी। जिसके चलते बहुमत का आंकड़ा 104 पंहुच जाएगा। ऐसे में कुमारस्वमी सरकार के पास 100 विधायकों का ही समर्थन बचेगा और सरकार अल्पमत में आ जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here