कर्नाटक : फ्लोर टेस्ट पर अड़ी BJP, विधायकों ने विधानसभा में गुजारी रात

0
43

बेंगलुरू। कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की सरकार रहेगी या सत्ता से बेदखल होंगे। इसका फैसला आज मतलब शुक्रवार को हो जाएगा, क्योंकि राज्यपाल वजू भाई वाला ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी को पत्र लिखकर कहा था कि वह शुक्रवार दोपहर 1.30 बजे अपना बहुमत साबित करें। इससे पहले राज्यपाल ने विधानसभा स्पीकर से आग्रह किया था कि वह गुरुवार को ही फ्लोर टेस्ट पर विचार करें, लेकिन स्पीकर ने सदन एक दिन के लिए स्थगति कर दिया।

https://twitter.com/ANI/status/1151916741997539329

इससे पहले गुरूवार को विधानसभा में जमकर बहस देखने को मिली जिसके चलते विश्वास मत पर वोटिंग ही नहीं हो सकी और स्पीकर ने सदन की कार्यवाही को कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया है। इस दौरान राज्य के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सदन में भाजपा पर सरकार को अस्थिर करने का आरोप मढ़ा। वहीं भाजपा ने भी कांग्रेस-जेडीएस पर जानबूझकर फ्लोर टेस्ट में देरी का आरोप लगाया।

इधर, बीजेपी नेताओं ने कर्नाटक के राज्यपास से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। वहीं विधानसभा में कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों ने कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल की फोटो लहराई। बता दे कि श्रीमंत पाटिल मुंबई के अस्पताल में भर्ती हैं। दिन-भर चली बहस के बाद स्पीकर ने कार्यवाही स्थगित कर दी।

वहीं कार्यवाही स्थगित होने से बीजेपी खासी नाराज हो गई है। जिसके चलते भाजपा के विधायक बीजेपी अध्यक्ष और पूर्व सीएम येदियुरप्पा के नेतृत्व में विधानसभा सदन में ही डटे हुए हैं। येदियुरप्पा का कहना है कि जब तक विश्वासमत पर फैसला नही हो जाता है तब तक बीजेपी विधायक सदन में ही रहेंगे।

बीजेपी नेता ने कहा कि हम सदन में ही सोएंगे और सदन में ही सभी बीजेपी विधायकों के लिए खाने और बिस्तर का इंतजाम किया जाएगा। उन्होने कहा महिला विधायक 9 बजे तक सदन में रहेंगी। जबकि पुरूष विधायक रातभर यहीं सोंएंगे।

गौरतलब है कि आज मुख्यमंत्री कुमारस्वामी को विधानसभा में अपना बहुमत साबित करना था। जो दिन भर चली बहच के कारण नहीं हो पाया।इस दौरान विधानसभा से 19 कांग्रेसी विधायक नदारद भी रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here