Breaking News

मप्र: कान्ह-सरस्वती नदी संरक्षण के लिए तय होगा साप्ताहिक लक्ष्य

Posted on: 02 Feb 2019 17:19 by Ravindra Singh Rana
मप्र: कान्ह-सरस्वती नदी संरक्षण के लिए तय होगा साप्ताहिक लक्ष्य

इंदौर के नए संभागायुक्त बने आकाश त्रिपाठी के द्वारा शनिवार को कान्ह-सरस्वती नदी संरक्षण के कार्यों की समीक्षा की गई। उन्होने नगर निगम को साप्ताहिक लक्ष्य तय कर काम करने के निर्देश दिये। नदी के किनारों का पूर्व के वर्षो में हुए सीमांकन का रिकार्ड गुम होने पर उन्होने नाराजगी जताई ओर इसके लिए जिम्मेदारी तय करते हुए संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही के निर्देश दिये।

बैठक में आयुक्त नगर निगम आशीष सिंह, अपर कलेक्टर  कैलाश वानखेड़े, आईडीए सीईओ  विवेक श्रोत्रिय, संयुक्त आयुक्त श्रीमती सपना शिवाले और अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे। संभागायुक्त ने कहा कि आने वाले दिनों में वे स्वयं चल रहे कार्यों को जाकर देखेगें और मौके पर ही “स्टेंडअप मीटिंग” करेगें।
एक साल में दिखेगा नदी का परिवर्तित रूप

संभागायुक्त  त्रिपाठी ने कहा कि नदी संरक्षण के लिए साप्ताहिक लक्ष्य तय करें। इस वर्ष के अंत तक नदी का परिवर्तित रूप दिखना चाहिए। चूंकि शहर की दोनो नदियां बरसाती है, इसलिए इसमें साल भर का जल बहाव सुनिश्चित करना हमारे लिए चुनौती हैं। श्री त्रिपाठी ने नदी के कैचमेंट एरिया की जानकारी भी प्राप्त की। बिलावली तथा पिपलियापाला तालाब में जल आगमन प्रणाली को क्लियर करने के निर्देश दिये।

स्टाप-डेप का करें पुनरुद्धार
संभागायुक्त त्रिपाठी ने कान्ह नदी में होल्कर काल के स्टाप डेमों की जानकारी ली और उनके पुनरूद्धार के निर्देश दिये। आयुक्त नगर निगम श्री आशीष सिंह ने बैठक में पॉवर पाइंट प्रजेंटेशन के जरिए कार्य योजना की जानकारी दी। अपर कलेक्टर श्री कैलाश वानखेड़े ने बैठक में कहा की बिलावली और पिपलियापाला तालाब में पानी आने के स्रोतों में अतिक्रमण और निर्माण हो गये है, इनका चिन्हांकन किया जाना जरूरी हैं।

नदी का 30 मीटर का किनारा लाल रंग में होगा चिन्हित
बैठक में तय किया गया कि नदी के तीस मीटर के किनारों को खसरे में लाल रंग से चिन्हित किया जायेगा। ताकि नदी के किनारों का सही ढंग से संरक्षण किया जा सके। नदी के सीमांकन का कार्य जीयो-टेगिंग के साथ किये जाने का निर्णय लिया गया।

संभागायुक्त श्री त्रिपाठी ने नदी के किनारों पर हरियाली की ठोस कार्ययोजना पर काम करने को कहा। उन्होने कहा कि इंदौर शहर की जलवायु के अनुरूप कान्ह नदी के दोनों किनारों पर वृक्षारोपण किया जाये। वृक्षारोपण का जीवित रहना भी सुनिश्चित किया जाये। नदी में मिलने वाले नालो की टेपिंग और अन्य कार्यों की जानकारी आयुक्त नगर निगम आयुक्त श्री आशीष सिंह द्वारा दी गई। श्री सिंह ने बताया कि नदी संरक्षण का मूल कार्य अमृत योजना और सौदर्यीकरण का कार्य स्मार्ट सिटी योजना में किया जा रहा हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com