Breaking News

अपनी भाषा पर संयम रखें कैलाश विजयवर्गीय: जीतू पटवारी

Posted on: 11 Jun 2019 17:49 by Surbhi Bhawsar
अपनी भाषा पर संयम रखें कैलाश विजयवर्गीय: जीतू पटवारी

इंदौर: मंत्री जीतू पटवारी ने पत्रकारों से कहा कि आज भाजपा कैलाश विजयवर्गीय, सांसद शंकर लालवानी और विधायकों को किसानों की याद तो आई। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जा रही है उनकी भाषा छोटी और निंदनीय होती जा रही है। वे कैसे शव्दों का प्रयोग कर रहे है नाग नाथ, सांपनाथ। पटवारी ने कहा कि कैलाश जी आप अपनी भाषा पर संयम रखें और आप अपनी सरकार की चिंता करे।

पटवारी ने कहा कि हमे योजनाबद्ध तरीके से किसान और बैंकों को मजबूत करना है। ऋण माफी का दूसरा चरण शुरू हो गया। अपने कार्यकर्ताओं से खुद का स्वागत करवाया, पीठ थपथपाई, पर ये बहाना क्यो किया , किसान यदि आपके साथ है तो देखो तो कौन आये है रैली में। पटवारी ने कहा कि सिर्फ कैसे भ्रमित करने ये आता है। एक-एक किसान से किया वादा कोंग्रेस पार्टी करेंगी।

गर्मी में शहर के ट्रेक्टर आ गए , जबकि ग्रामीण किसान आने की बात थी और जो पानी के टैंकर में चलते थे वो भी ले आये लोग पानी को तरस गए। किसान सरकार से खुश है इसलिए एक भी किसान भाजपा के आंदोलन में नही आया। केवल राजनीतिक रोटियां सीखना भाजपा की आदत है। जिस तरह के शब्दों का प्रयोग भाजपा करती है ये लोकतंत्र के लिए खतरा है।

कैलाश जी मजदूर के बेटे है पर उनके हित की बात नही की, शहर की तरक्की की बात नही की कोंग्रेस की सरकार आने के बाद मेट्रो का काम शुरू किया आप जैसे चाहोगे मुकाबला करेंगे दो दो हाथ करेंगे और जैसे चाहोगे वैसे मुकाबला करेंगे।

पटवारी ने कहा कि कैलाश विजयवर्गीय की व्यथा है। उनमें पार्टी के अंदर की लड़ाई सिर चढ़ कर बोल रही है। कैलाश जी ने कभी सकारात्मक बात नही की। आप अपनी भाषा पर संयम रखें और आप अपनी सरकार की चिंता करे। 100 पाप तो भाजपा और उनके नेताओ ने किए तभी तो सरकार से बाहर हुए है। उन पापो की जांच होगी और कितने भी नेता हो सब के पाप सामने आएंगे। हम लोग इनकी सोच और विचारधारा के खिलाफ लड़ रहे है।

मंच गिरने के मामले में कहा कि जहाँ कैलाश जी जाते है वहा नफरत और घृणा होती है आज यहां आए तो लोगो की कमर तोड़ दी। शंकर ललवानी को पांच लाख से अधिक वोट से जनता ने जिताया है उनको ऐसा नही लगना चाहिए कि छोटे गिलास में ज्यादा पानी भर दिया गया है। इंदौर में ऐसे पोस्टर लगाना इंदौर का अपमान है, मां अहिल्या का अपमान है।आज ममता जी के पोस्टर लगाने पर बंगाल की जनता भी बदला लेगी और प्रदेश की जनता भी इन्हें बताएगी। चुनाव तो हम पूरे देश मे हार गए ये एक हार जीत प्रक्रिया है तो क्या हम जनता के सेवा कार्य नही करे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com