Breaking News

JNU में खफा छात्रों ने खोला ढाबा, लिखा ‘हम हैं उल्लू’

Posted on: 14 Oct 2017 10:03 by Ghamasan India
JNU में खफा छात्रों ने खोला ढाबा, लिखा ‘हम हैं उल्लू’

नई दिल्ली : देश की मशहूर यूनिवर्सिटी जेएनयू में एक अजीबोगरीब नया ढाबा छात्रों ने खोला है। इस ढाबे की खासियत है कि इसका कोई मालिक नहीं है। इसके नियम-कायदे भी अलग हटकर हैं।

ये ढाबा रात को चलता है। यहां जाने वाले छात्र खुद ही अपने लिए चाय बनाते हैं। खुद खरीदकर सामान लेकर आते हैं और फिर होती है चाय पर चर्चा।
JNU में खफा छात्रों ने खोला गुरिल्‍ला ढाबा, लिखा 'हम हैं उल्‍लू' यही नहीं वहां से जाने से पहले अपने कप-गिलास को धोकर रख देते हैं। नाम रखा है गुरिल्ला ढाबा। लिखा है, ‘हम हैं उल्लू’।
JNU में खफा छात्रों ने खोला गुरिल्‍ला ढाबा, लिखा 'हम हैं उल्‍लू' इस ढाबे को शुरू करने का फैसला छात्रों ने तब लिया जब सुरक्षा कारणों से रात 11 बजे के बाद यूनिवर्सिटी परिसर की सारी कैंटीन बंद करने का JNU प्रशासन ने फैसला लिया।
JNU में खफा छात्रों ने खोला गुरिल्‍ला ढाबा, लिखा 'हम हैं उल्‍लू' प्रशासन के फैसले के विरोध में छात्रों ने गुरिल्ला ढाबा बना दिया। वे खुद ही इसे चला रहे हैं। ढाबा खुले कुछ ही दिन बीते हैं और ये पूरे कैंपस में काफी लोकप्रिय हो गया है। जो छात्र यहां नहीं आए हैं वे भी यहां आ रहे हैं।JNU में खफा छात्रों ने खोला गुरिल्‍ला ढाबा, लिखा 'हम हैं उल्‍लू' छात्र एक तर्क ये भी दे रहे हैं कि इससे रात में लड़कियां जेएनयू की सड़कों पर सुरक्षित महसूस कर रही हैं क्योंआकि देर रात तक छात्रों का यहां जमावड़ा लगा रहता है।
JNU में खफा छात्रों ने खोला गुरिल्‍ला ढाबा, लिखा 'हम हैं उल्‍लू'

Save

Save

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com