इस कारण J&K में एकसाथ नहीं हो सकते लोकसभा और विधानसभा चुनाव | Jammu-kashmir: Loksabha & Assembly election will not be held together

0
37
election

देश में सबसे बड़े चुनाव यानी लोकसभा चुनाव का रविवार को विगुल बज गया है। 7 चरणों में होने वाले चुनावों के नतीजें 23 मई को आएंगे। लोकसभा चुनाव के ऐलान के साथ ही चार राज्यों में विधानसभा चुनावों का भी ऐलान हो गया है। हालांकि फिलहाल जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनाव का ऐलान नहीं हुआ है। जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव नहीं कराने के फैसले के बाद ही राजनीतिक पार्टियां निर्वाचन आयोग की आलोचना करने लगी है। चुनाव आयोग ने कुछ कारणों के चलते जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव नहीं कराने का फैसला इया है।

must read: Loksabha Election: जानें किस चरण में कहां होगा मतदान

जम्मू-कश्मीर में एकसाथ नहीं हो सकते लोकसभा और विधानसभा चुनाव

निर्वाचन आयोग पर सवाल उठने के बाद जम्मू-कश्मीर के मुख्य निर्वाचन अधिकारीशालिंदर कुमार ने कहा कि हम सभी को चुनाव आयोग के विवेक का सम्मान करना चाहिए। राज्य की सुरक्षा स्थिति को देखते हुए विधानसभा और लोकसभा चुनाव एकसाथ कराना संभव नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि आतंकी हमलों को देखते हुए प्रशासन अलर्ट पर है और सीमावर्ती इलाकों सहित पूरे राज्य में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए सभी जरूरी उपाय किए गए हैं।

must read: 160 लाख मतदाता पहली बार डालेंगे वोट लोकसभा चुनाव में

उमर अब्दुल्ला ने याद दिलाया राजनात सिंह का भरोसा

राज्य में विधानसभा चुनाव नहीं कराए जाने के बाद उमर अब्दुल्ला ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह का भरोसा याद दिलाया है। उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा कि ‘‘1996 के बाद पहली बार जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव समय पर नहीं हो रहा है। जब आप अगली बार प्रधानमंत्री मोदी की उनके मजबूत नेतृत्व के लिए प्रशंसा करें तो इसे याद रखिएगा।’’ हैरानी जताते हुए उन्होंने कहा कि सर्वदलीय बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह की ओर से दिये गए उस भरोसे का क्या हुआ जिसमें कहा गया था कि एकसाथ चुनाव कराने के लिए सभी बल मुहैया कराये जाएंगे।

must read: चुनाव आयोग हुआ सख्त, हर मतदान केंद्र पर वीवीपैट मशीन का आदेश जारी | lok sabha elections vvpat will be at every polling station said election commission

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में भाजपा ने पीडीपी से अपना गठबंधन वापस ले ललिया था, जिसके बाद वहां की विधानसभा भंग हो गई थी। फिलहाल राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here