Breaking News

झारखंड : नक्सलियों ने बम से उड़ाया भाजपा कार्यालय

Posted on: 26 Apr 2019 10:42 by Pawan Yadav
झारखंड : नक्सलियों ने बम से उड़ाया भाजपा कार्यालय

लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने के लिए नक्सली लोगों को डरा धमका रहे हैं। इतना ही नहीं, नक्सलियों ने झारखंड के पलामू में भाजपा कार्यालय को बम से उड़ा दिया है। इस धमाके के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। इसके बाद नक्सलियों ने मौके पर जमकर फायरिंग भी की। बताया जा रहा है कि थाने से कुछ ही दूरी पर भाजपा कार्यालय है। नक्सली एक धमकी भरा पत्र भी छोड़कर गए हैं, जिसमें 17वीं लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने और जनता की नई जनवादी सत्ता स्थापित करने की बात लिखी।

Read More : दिल्ली एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, धू-धू कर जला एयर इंडिया का विमान | Big Accident at Delhi Airport…

हालांकि नक्सली हमले में कोई जनहानि होने की खबर नहीं है, लेकिन इस बम ब्लास्ट के बाद क्षेत्र में भय का माहौल निर्मित हो गया हैं। नक्सलियों के धमकी भरे पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना मेंढक से की है। पत्र में दावा किया है कि जब चुनाव आते हैं, तब नेताओं को जनता का दुख-दर्द, भुखमरी, बेरोजगारी, विस्थापन, भ्रष्टाचार, गरीबी और कुपोषण का ध्यान आता है। पत्र में विजय माल्या, नीरव मोदी, नोटबंदी, जीएसटी और राफेल सौदा घोटाले का जिक्र भी किया है। नक्सलियों ने पत्र में लिखा है कि बिहार की नीतिश सरकार और झारखंड के सीएम रघुवरदास पर आरोप लगाए हैं कि दोनों सरकार ने वनवासियों, आदिवासियों को जंगली-पहाड़ी क्षेत्रों से विस्थापित कर प्राकृतिक संसाधनों व खनिज संपदाओं को लूटने के लिए कॉरपोरेट को सौंप दिया है।

नक्सलियों ने चुनाव अधिकारी को मारी गोली, गाड़ी फूंकी

ओडिशा में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान गुरूवार सुबह से शुरू हो चुका है। इसी बीच मतदान का विरोध करने वाले नक्सलियों का प्रकोप एक बार फिर देखने को मिल रहा है। राज्य के कंधमाल जिले में नक्सलियों ने एक निर्वाचन अधिकारी की हत्या कर दी और साथ ही एक अन्य चुनावी कार्य के लिए प्रयोग होने वाली गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया। इसके अलावा भी नक्सलियों ने चुनाव का बहिष्कार करने की धमकी दी है। वोटींग के ठीक एक दिन पहले नक्सलियों की इन हरकतों से सरकारी सुरक्षा पर सवाल उठना जायज है।

डीजीपी बीके शर्मा के अनुसार, चुनाव के लिए सेक्टर अधिकारी संयुक्ता दिगल अन्य चार साथियों के साथ चुनाव के लिए एक बूथ की तरफ जा रही थीं। वह गूदपाड़ा पुलिस स्टेशन के नजदीक बालंदपाड़ा के पास एक जंगल से गुजर रही थी तभी रास्ते में उन्हें संदिग्ध वस्तु दिखी। जब उस संदिग्ध वस्तु की जाँच करने के लिए वो नीचे उतरी तभी नक्सलियों ने संयुक्ता की गोली मार कर हत्या कर दी, मौजूद अन्य चार अधिकारियों को कोई नुकसान नहीं हुआ। यह घटना कंधमाल लोकसभा के अंतर्गत आने वाले फूलगनी विधानसभा क्षेत्र की है।

दूसरी घटना फिरिंगिया पुलिस स्टेशन के एक गांव में हुई। जिसमें नक्सलियों ने चुनाव में उपयोग होने वाली गाड़ी को आग लगा कर खाक कर दिया, हालांकि इस घटना में कोई जान हानि का मामला सामने नहीं आया है, लेकिन गाड़ी में मौजुद चुनाव संबंधित ईवीएम और अन्य सामान का कोई पता नहीं चला है। दरअसल, गाड़ी में आग लगाने से पहले नक्सलियों ने उसमें बैठे मतदानकर्मियों को नीचे उतार दिया था।

स्थानीय प्रशासन ने आशंका जताते हुए बताया है कि इन दोनों घटनाओं के पीछे भाकपा (माओवादी) के केकेबीएन कालाहांडी-कंधमाल-बौध-नयागढ़ खंड का हाथ है, क्योकि अभी कुछ ही दिन पहले माओवादियों ने जिले में पोस्टर और बैनर लगाकर लोगों से चुनाव का बहिष्कार करने को कहा था।

Read more : पश्चिम बंगाल में TMC और BJP कार्यकर्ताओं में झड़प

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com