90 दिनों में दिवालिया हो जाएगी जेपी ग्रुप की इंफ्रा, ऐसे पंहुची अर्श से फर्श पर

जेपी ग्रुप की सबसे बड़ी रियल एस्टेट कंपनी दिवालीया होने की कगार पर पंहुच गई है। बताया जा रहा है कि जेपी इंफ्राटेक 90 दिनों में दिवालिया हो जाएगी। जिसकी डेडलाइन सुप्रीम कोर्ट ने तय की है।

0
26
JP Infra

नई दिल्ली। जेपी ग्रुप की सबसे बड़ी रियल एस्टेट कंपनी दिवालिया होने की कगार पर पंहुच गई है। बताया जा रहा है कि जेपी इंफ्राटेक 90 दिनों में दिवालिया हो जाएगी। जिसकी डेडलाइन सुप्रीम कोर्ट ने तय की है। 10 साल पहले देश की सबसे प्रमुख रियलय एस्टेट कंपनी रही जेपी इंफ्राटेक का इस स्थिति में पंहुच जाना चैंकाने वाला है।

बता दे कि जेपी गु्रप के फाउंडर जय प्रकाश गौड़ है। उन्होने जेपी एसोसिएट के नाम से सिविल इंजीनियरिंग और कंस्ट्रक्शन कंपनी के साथ जेपी ग्रुप बनाया था। शुरूआती समस्याओं के बाद कंपनी ने रियल एस्टेट, एजुकेशन और पावर सेक्टर से लेकर सीमेंट प्लांट व डैम तक की नींव रखी।

साथ ही 2005 से 2008 के बीच कंपनी को यमुना एक्सप्रेसवे और देश का पहला फॉर्मूला वन ट्रैक के निर्माण का भी मौका मिला। जानकारों का मानना है कि ये दोनों प्रोजेक्ट कंपनी के लिए आर्थिक बोझ साबित हुआ था। इन प्रोजेक्ट से जेपी ग्रुप उम्मीद के मुताबिक फायदा नहीं मिला। जो कि कंपनी के लिए एक बड़ा झटका था।

इसके साथ ही कंपनी में कई विवाद भी पैदा होने लगे थे। साल 2014 की कैग रिपोर्ट में ग्रुप को दिए गए कई प्रोजेक्ट पर सवालिया निशान खड़े हुए थे। इसके अलावा जेपी इंफ्राटेक के नोएडा और ग्रेटर नोएडा के हाउसिंग प्रोजेक्ट भी विवादों के घेरे में आ गए थे। इन प्रोजेक्ट्स के जरिए खरीदारों से से पैसे तो लिए गए लेकिन उन्हें पजेशन नहीं दिया गया। जिसके खिलाफ खरीदारों ने सड़क से लेकर कोर्ट तक मोर्चा खोल दिया।

जिसके बाद जेपी ग्रुप ने महंगा कर्ज के जरिए इसका हल ढूंढने की कोशिश की तभी नोटबंदी का ऐलान हो गया। नोटबंदी के फैसले के चलते रियल एस्टेट सेक्टर में मंदी का दौर छा गया। जो जेपी ग्रुप की इंफ्राटेक के लिए बड़ा झटका था। साथ ही जेपी गु्रप पर खरीदारों को पजेशन देने या पैसे लौटाने का दबाव बढ़ने लगा।

इसके अलावा कंपनी पर लगे धोखाधड़ी के आरोप के बाद डायरेक्टर्स की प्रॉपर्टी भी फ्रीज कर दी गई। जिससे कंपनी कर्ज के बोझ तले दबती गई। साथ ही जेपी इंफ्रा के शेयर के भाव में भी गिरावट होने लगी। जिससे कंपनी की प्रॉफिट को झटका लगा।

ऐसी स्थिति जेपी इंफ्रा दिवालिया प्रक्रिया में चली गई। फिलहाल अब कंपनी इंफ्राटेक अब 90 दिन में दिवालिया प्रक्रिया को पूरी करगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here