बिना चुनाव जीते विदेश मंत्री बने जयशंकर ऐसे पहुंचेंगे संसद

0
11

बिना चुनाव जीते एस जयशंकर को मोदी सरकार में विदेश मंत्री बनाया गया हैं, जो देशभर में चर्चा का विषय है। अब मोदी सरकार के सामने ये चुनौती है कि एस जयशंकर को किस तरह संसद पहुंचाया जाए। भाजपा ने पहले तमिलनाडु से राज्यसभा भेजने का प्लान बनाया था, लेकिन एआईडीएम के साथ बात नहीं बनने के कारण अब जयशंकर को गुजरात से राज्यसभा भेजा जाएगा। गौरतलब है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और स्मृति ईरानी के लोकसभा चुनाव जीतने के बाद गुजरात में भाजपा कोटे की दो राज्यसभा सीट खाली हो गई है।

हालांकि लोकसभा चुनाव में एआईडीएमके और भाजपा तमिलनाडु में कुछ खास नहीं कर पाई और 39 में से 38 लोकसभा सीटों पर हुए चुनाव में एक मात्र थेणी लोकसभा सीट ही जीत पाई है। बताया जा रहा है कि एआईएडीएमके पर अपने कोटे की चार राज्यसभा सीटों में से एक सीट भाजपा को देने का दबाव है, जोकि 24 जुलाई को खाली होने जा रही है। चुनाव के पहले हुए समझौते के आधार पर उसे एक अन्य सीट सहयोगी दल पीएमके को देनी होगी। गौरतलब है कि विदेश मंत्री एस जयशंकर तमिलनाडु के रहने वाले हैं।

राज्य की 22 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में डीएमके को 13, जबकि एआईडीएमके को नौ सीटों पर जीत हासिल हुई थी।एआईएडीएमके के एक नेता का कहना है कि स्थानीय निकाय के चुनाव में कुछ दिन रह गए हैं, ऐसे में हम ऐसा नहीं कर सकते। वहीं एक अन्य नेता के मुताबिक एआईएडीएमके वेल्लोर लोकसभा सीट और नानगुनेरी विधानसभा सीट पर चुनाव होने तक भाजपा को राज्यसभा सीट देने के पक्ष में नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here