आरे की इस कॉलोनी में जवाहरलाल नेहरू ने किया था वृक्षारोपण दुर्लभ चित्र

0
18

मुंबई के तीन हज़ार एकड़ से भी ज़्यादा इलाक़े को कॉलोनी में तब्दील किया था जवाहरलाल नेहरु ने – आरे मिल्क कॉलोनी के नाम से. यहाँ जंगल, मवेशी और उन्हें पालने वाले पिछले सत्तर सालों से रह रहे हैं.ये इलाक़ा इतना ख़ूबसूरत था कि एक ज़माने में अधिकांश फ़िल्मों में नैनीताल और कश्मीर दिखाने के लिए यहीं शूट कर लिया जाता था.

गुजरात में दुग्ध क्रांति का काम वर्गीस कुरियन ने सम्भाला हुआ था और इस इलाक़े में दारा खरोड़े ने, जिन्हें 1963 मैग्सेसे अवार्ड से सम्मानित किया गया था.

आज इस इलाक़े में सैकड़ों आदिवासी और मवेशी रह रहे हैं.भाजपा सरकार और उनके भक्तों की जानकारी के लिए बता दूँ कि यहाँ क़रीब 2 हज़ार गायें आज भी मौजूद हैं. यहाँ लगे पेड़ 70 से 100 साल पुराने हैं.

यदि इस जंगल के बीच से हाई वे निकला जाता तो मुंबई की दूरी काफ़ी घट जाती, लेकिन आज तक किसी सरकार ने इतने सारे पेड़ों को काटने की हिम्मत नहीं की. लेकिन उन आदिवासियों और मवेशियों के बीच मेट्रो चलाने की बड़ी जल्दी है इस सरकार को.उनके जंगल काटकर उनके घर गिराकर, उन्हें गिरफ़्तार कर ये सरकार उन्हें मेट्रो ट्रेन दे रही है, उनकी मर्ज़ी के ख़िलाफ़.

मुंबई में हैं तो आगे आइए. मुंबई के बाहर हैं, तो सोशल मीडिया पर विरोध कीजिए. नहीं तो एक दिन आपके शहर और आपके पेड़ों का भी यही समय आएगा.

• हैदर रिज़वी की दीवार से

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here