जम्मू-कश्मीर : EC की बैठक खत्म, गृह मंत्रालय से हरी झंडी मिलने पर शुरू होगा परिसीमन

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने और राज्य को दो केन्द्र शाषित प्रदेष््रा में विभाजित किए जाने के बाद अब अलत परिसीमन किया जाएगा। ऐसे में मंगलवार को चुनाव आयोग ने पहली बैठक बुलाई थी और जम्मू-कश्मीर के चीफ इलेक्शन ऑफिसर से नए परिसीमन की जानकारी भी मांगी है। बताया जा रहा है कि गृह मंत्रालय के अनुरोध के बाद चुनाव आयोग परिसीमन की प्रक्रिया शुरू करेगा।

0
76

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने और राज्य को दो केन्द्र शाषित प्रदेष््रा में विभाजित किए जाने के बाद अब अलत परिसीमन किया जाएगा। ऐसे में मंगलवार को चुनाव आयोग ने पहली बैठक बुलाई थी और जम्मू-कश्मीर के चीफ इलेक्शन ऑफिसर से नए परिसीमन की जानकारी भी मांगी है। बताया जा रहा है कि गृह मंत्रालय के अनुरोध के बाद चुनाव आयोग परिसीमन की प्रक्रिया शुरू करेगा।

बता दे कि चुनाव आयोग द्वारा परिसीमन के लिए एक आयोग का गठन भी किया जाएगा। साथ ही चुनाव आयोग द्वारा से राजनीतिक पार्टियों, स्थानीय लोगों से चर्चा के बाद रिपोर्ट तैयार की जाएगी, जिसके सरकार को सौंपा जाएगा।

चुनाव आयोग की इस बैठक में शुरूआती चर्चा की गई थी। बैठक के दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा, दोनों चुनाव आयुक्त और चुनाव आयोग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल थे।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर को केन्द्र शासित प्रदेश बनाए जाने के बाद राज्य में विधानसभा चुनाव भी होना है। यहां पर राज्य सरकार और मंत्रिमंडल भ्ी होगा। वहीं लद्दाख को अलग केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया है।

वर्तमान में जम्मू-कश्मीर में 111 विधानसभा है। जिसमें 87 जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की है और बची हुई 24 विधानसभा पाक अधिकुत कश्मीर में शामिल है। वहीं अब होने वाले परिसीमन में लद्दाख की 4 सीटे हट जाएगी। क्योकि यहां पर विधानसभा लागू नहीं होगी।

जम्मू में अभी 37 और कश्मीर में 46 विधानसभा सीटें हैं. परिसीमन का हिसाब देखें तो यहां सात सीटों का इजाफा हो सकता है, हालांकि इसकी तस्वीर चुनाव आयोग के फैसले के बाद ही साफ होगी.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में अभी विधानसभा चुनाव होने बाकी हैं और राष्ट्रपति का शासन लागू है. शुरुआती 6 महीने वहां पर राज्यपाल का शासन लागू किया गया था, लेकिन बाद में राष्ट्रपति शासन लगाया गया. अब जब भी विधानसभा का परिसीमन होगा, उसके बाद चुनाव की ओर कदम आगे बढ़ाए जा सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here