Breaking News

इंदौर: IWWA का 51वां वार्षिक अधिवेशन 18 जनवरी से

Posted on: 14 Jan 2019 16:35 by mangleshwar singh
इंदौर: IWWA का 51वां वार्षिक अधिवेशन 18 जनवरी से

इंडियन वाटर वर्क्स एसोसिएशन (IWWA) के 51वें वार्षिक अधिवेशन का आयोजन मध्यप्रदेश के भोपाल सेंटर द्वारा 18 जनवरी से 20 जनवरी 2019 तक इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय ऑडिटोरियम में किया जा रहा है। श्री सोनगरिया प्रमुख अभियंता नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे.

इंडियन वाटर वर्क्स एसोसिएशन (IWWA) एक ऐसा तकनीकी फोरम है जो राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कार्यरत है। इस फोरम द्वारा पेयजल प्रदाय एवं मल-जल निकासी व्यवस्था से संबंधित विषयों पर प्रति तीन माह में एक तकनीकी जनरल भी प्रकाशित किया जाता है, जिसमें नवीनतम तकनीकों पर आधारित पेपर्स प्रकाशित किये जाते हैं तथा राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर आ रही समस्याओं के तकनीकी समाधान प्रस्तुत किये जाते हैं।

इस एसोसिएशन का गठन वर्ष 1968 में हुआ था तथा एसोसिएशन के लगभग 11000 से भी अधिक आजीवन सदस्य/आजीवन फेलो बन चुके हैं। इंडियन वाटर वक्र्स एसोसिएशन के देशभर में 34 सेंटर्स हैं, जिसमें मध्यप्रदेश में 4 सेंटर क्रमशः भोपाल, इंदौर, जबलपुर एवं ग्वालियर में स्थित है। प्रतिवर्ष किसी 34 सेंटरों में से किसी एक सेंटर में वार्षिक अधिवेशन आयोजित किया जाता है। इस बार भोपाल सेंटर तथा मध्यप्रदेश के अन्य सेंटरों के सहयोग से इंदौर में वार्षिक अधिवेशन किया जा रहा हैैै।

इस आयोजन में देश-विदेश से लगभग 1200 प्रतिभागियों का भाग लेना संभावित है। आयोजन में पेयजल एवं मल-जल निकासी विषय के राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय विषय विशेषज्ञ भी विशेष रूप से भाग लेने आ रहे हैं। इन विशेषज्ञों द्वारा तीन दिवसीय वार्षिक अधिवेशन में आयोजित 10 तकनीकी सत्रों में उपस्थित रहकर नवीनतम तकनीकी विषयों पर प्रस्तुत किये जाने वाले पेपर्स पर सघन विचार-विमर्श कर 50 पेपर्स पर अनुशंसायें प्रस्तुत की जावेगी।

तकनीकी सत्रों के साथ-साथ काॅमिर्शियल सत्र भी आयोजित किये गये हैं, जिनमें निर्माता फर्मों द्वारा आधुनिकतम विकसित तकनीकों का प्रर्दशन किया जावेगा। इस हेतु अधिवेशन स्थल पर एक वृहद प्रर्दशनी का भी आयोजन किया गया है, जिसमें लगभग 70 निर्माता फर्मो के स्टाॅल लगाया जाना तय हो चुका है।

अधिवेशन में देश के सभी 34 सेंटर्स से प्रतिभागी व पदाधिकारी उपस्थित हो रहे हैं तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अमेरिकन वाटर वक्र्स एसोसिएशन (AWWA)  इंटरनेशनल वाटर एसोसिएशन IWWA) जापान वाटर वक्र्स एसोसिएशन,(JWWA )कोरिया वाटर वक्र्स एसोसिएशन ( KWWA) एवं सिंगापुर वाटर वक्र्स एसोसिएशन (SWWA)  पदाधिकारीगण विशेष रूप से भाग लेंगे।

यह वर्ष इंडियन वाटर वर्क्स एसोसिएशन ( IWWA) की स्थापना का स्वर्ण जयंती वर्ष होने के कारण अधिवेशन में वर्ष भर आयोजित की गई विभिन्न गतिविधियों पर भी कांउसिंल आॅफ मैनेजमेंट ( COM)  तथा वार्षिक साधारण सभा (AGM) में चर्चा की जाकर विभिन्न गतिविधियाॅं एवं पुरस्कारों को भी निर्णित किया जावेगा।

एसोसिएशन द्वारा युवा वर्ग को प्रोत्साहन देने के लिए विशेष रूप से इंजीनियरिंग छात्र-छात्राओं की युवा विंग भी तैयार की गई है। इस विंग के अंतर्गत मध्यप्रदेश सहित बैंगलोर, कोयम्बटूर, पूणे, लखनऊ, पवई (IIT Mumbai)  आदि संस्थानों के ME/ M Tech में अध्ययनरत् लगभग 200 छात्र-छात्रायें भी भाग लेंगे।

प्रतिभागियों में विभिन्न राज्यों से पेयजल एवं मल-जल से संबंधित वरिष्ठ अधिकारी यथा प्रमुख अभियंता, मुख्य अभियंता, परियोजना निदेशक, सलाहकार इत्यादि भी सम्मिलित रहेंगे, जिससे सम्मेलन में प्रस्तुत तकनीकी पेपर्स के आधार पर निकले निष्कर्षों से नीति निर्धारण कर उन्हें देश और समाज के लाभ के लिए लागू किया जा सके। अधिवेशन के उद्घाटन सत्र में वर्तमान राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तथा भोपाल सेंटर के चेयनमैन श्री के.के.सोनगरिया, प्रमुख अभियंता को राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत किया जायेगा।

इस तीन दिवसीय अधिवेशन के उद्घाटन सत्र को दिनांक 18 जनवरी 2019 को प्रातः 10 बजे माननीया लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन के मुख्य आतिथ्य एवं माननीय श्री सुखदेव पांसे, मंत्री, म.प्र.शासन, लोक स्वास्थ्य याःत्रिकी विभाग के विशिष्ट आतिथ्य में सम्पन्न किया जावेगा। उद्घाटन सत्र के साथ ही आॅडिटोरियम में राष्ट्रीय पर्यावरण अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान ;छम्म्त्प्द्ध के निदेशक डाॅ. श्री राकेश कुमार द्वारा मोडक मेमोरियल व्याख्यान तथा वाॅटर नोबल पुरस्कार से सम्मानित श्री एम.ए.चितले द्वारा रमन मेमोरियल व्याख्यान प्रस्तुत किए जावेंगे।

इस वार्षिक अधिवेशन की मुख्य थीम-वाॅटर सेक्टर इन्फ्रास्ट्रक्चर्सः एवेल्यूएशन एण्ड डेवलपमेंट जिसके अंतर्गत वाॅटर सप्लाई एवं सीवर नेटवर्क की आॅप्टिमल डिजाइन, वाॅटर आॅडिट, आॅटोमेशन जैसे नवीनतम विषयों पर शोध पत्र पढ़ें जावेंगे। इसके साथ ही पेयजल की गुणवत्ता एवं उपलब्ध मात्रा के क्षेत्र में आ रही चुनौतियों एवं उनसे निपटने के मौलिक उपायों पर भी विस्तार से चर्चा होगी। जल शुद्धिकरण के क्षेत्र में हो रहे नए-नए प्रयोगों तथा इसके परिणामस्वरूप रिसायकलिंग आॅफ वेस्ट वाॅटर जैसे तकनीकों की भी जानकारियां अधिवेशन में दी जावेंगी।

अधिवेशन का समापन दिनांक 20 जनवरी, 2019 को होगा, जिसमें मुख्य अतिथि माननीय श्री सज्जन सिंह वर्मा, मंत्री, म.प्र.शासन, लोक निर्माण एवं पर्यावरण विभाग मध्यप्रदेश शासन रहेंगे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com