Breaking News

भविष्यवाणी जैसे अंधविश्वास को मानने वाले लोग अपने दिमाग का ईलाज करा ले तो बेहतर रहेगा | People who believe in Superstition like Prediction, treat their Brains

Posted on: 18 Apr 2019 17:01 by Surbhi Bhawsar
भविष्यवाणी जैसे अंधविश्वास को मानने वाले लोग अपने दिमाग का ईलाज करा ले तो बेहतर रहेगा | People who believe in Superstition like Prediction, treat their Brains

नीरज राठौर

जावरा से करीब 17 किमी दूर ग्राम गोठड़ा में श्री महिषासुर मर्दनी गोठड़ा वाली माताजी के पंडाजी नागूलाल चौधरी ने हर साल की तरह इस साल भी रविवार दोपहर मलेनी नदी के तट पर हजारों श्रद्धालुओं की उपस्थिति में वार्षिक भविष्यवाणी की।

उन्होंने कहा कि वर्षा अच्छी होगी, जेठ में भारी दुमड़ा (बारिश) गिरेगा। इसमें कई जगह बोवनी होगी। आधा आषाढ़ में दूसरी और उतरता आषाढ़ में तीसरी बोवनी होगी। आधा सावन कोरा (सूखा) और आधा सावन से भादवा माह तक भारी वर्षा होगी। कुंवार माह में भी वर्षा होगी। इससे कुएं-बावड़ी भर जाएंगे। इसके जवाब में सत्यानन्द जी महाराज कहते है की देश में हर साल बारिश होती है और हर साल कुएं-बावड़ी भर रहे है, इसमें कुछ नया नहीं है।

इसके बाद गोठड़ा वाली माताजी के पंडाजी ने कहा की ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान भी होगा। हालांकि उत्पादन खूब होगा। देश मे दंगा-फसाद चलेगा, साथ ही मावठा भी गिरेगा। इसके जवाब में सत्यानन्द जी महाराज कहते है की देश में हर साल ओला व्रष्टि एवं मावठा हो रहा है। देश में दंगा फसाद तो आजादी के बाद से रुका नहीं है, अभी भी छोटे मोटे झगडे हो रहे है।

इसके बाद गोठड़ा वाली माताजी के पंडाजी ने कहा की, ने ट्रैक्टरों से मुहूर्त हंकाई नहीं करने का आह्वान किया। गौसेवा करने का आह्वान किया। अगर आपने गोसेवा नहीं की तो गायों की तरह आपकी औलाद वृद्धाश्रम अथवा घर से बेघर कर देगी।

इसके जवाब में सत्यानन्द जी महाराज कहते है की कई गाय पालने वालो ने भी अपने मा बाप को घर से बाहर कर दिया है और दिलचस्प है कि कई गाय नहीं पालने वाले अपने मा बाप की सेवा कर रहे है। गाय पालने का मा बाप को साथ रखने से कोई सम्बन्ध नहीं है। ये कौनसी बात हुई की आप गाय नहीं पालोगे तो आपको आपकी औलाद घर से निकाल देगी। आज के इस दौर में लोगो के घर इतने छोटे हो गए है की गाय पाले या औलाद पाले. लोग शहरों में एक कमरे के मकान में रह रहे है।

सत्यानन्द जी महाराज कहते है कि 21वीं शताब्दी में रहने के बावजूद भी लोग इस तरह की भविष्यवाणी को मानते है तो उन्हें अपने दिमाग का इलाज करा लेना चाहिए।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com