भय्यू महाराज के कार्य प्रेरणादायक –  मोहन भागवत 

0
33
प. पू डॉ.  भैय्यू महाराज प्रणीत श्री सद्गुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट इंदौर,  पारधी समाज के बच्चो के  सर्वांगीण विकास लिए हमेशा प्रयासरत रहता है|  महाराष्ट्र के जिला बुलढाणा के खामगांव  तहसील में सजनपुरी ग्राम में पारधी एवं आदिवासी शैक्षणिक संकुल की ईमारत निर्माण किया गया.
छात्र एवं छात्राओं  के लिए आवासीय गृह के उदघाटन  समारोह  में विद्यार्थियों ने विविध सांस्कृतिक प्रस्तुति दी.  विद्यार्थियों की प्रस्तुतियों का सरसंघचालक मोहन भागवत  और भय्यू महाराज के धर्मपत्नी आयुषी देशमुख ने अवलोकन किया. पारधी समाज के शिक्षकगण और कर्मचारियों के लिए मार्गदर्शन कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमे सरसंघचालक मोहन भागवत जी ने उन्हें मार्गदर्शन किया.
कार्यक्रम में सरसंघ संचालक मोहन भागवत  ने अपने 30  मिनट के सन्देश में भय्यूजी महाराज के कार्यो को अमूल्य बताया उन्होंने कहा कि  सिर्फ भय्यू जी महाराज जैसे कार्य  की केवल प्रशंसा मत करो बल्कि उनके कार्यो में हाथ लगाओ. ऐसे कार्यो को करना मानवीय कर्त्तव्य है. यह धर्म से सम्बंधित कार्य है  इस पवित्र  कार्य हेतु संवेदनशील होकर समाज को आगे आना चाहिए इन बच्चो के लिए  सहयोग करना चाहिए.
सूर्योदय पारधी समाज आश्रमशाला का उद्देश्य शिक्षा से वंचित पारधी समाज को शिक्षित करना, उनका सर्वांगीण विकास करना,सक्षम नेतृत्व  का निर्माण करना, उन्हें पर्यावरण संरक्षण के राष्ट्रीय कर्यक्रम से जोड़ना. आदर्श नागरिको का निर्माण, भारतीय महापुरुषों, संतो, समाज सुधारको की जीवनी, लेखनी का ज्ञान कराना , पारधी समाज में संयमी, धैर्यंवान, नीतिवान,सृजनशील, आधुनिक पीढ़ी का निर्माण करना. उनके सुप्त कलागुणों का  विकास करना इत्यादि इस आश्रमशाला के उद्देश्य है
 इस कार्यक्रम में भय्यू जी महाराज की धर्म पत्नी डॉ. आयुषी देशमुख, ईमारत के निर्माण में विशेष आर्थिक योगदान देने वाले येस फाउंडेशन के अध्यक्ष अनिरुद्ध देशपांडे, प्रशांत देशमुख, विदर्भे प्रान्त सहसंचालक  चंद्रशेखर राठी एवं सौ.माधुरी  ताई देशमुख उपस्थित थे. आभार प्रदर्शन पारधी आश्रमशाला के मुख्याध्यापक  सोमनाथ गोरे ने किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here