Breaking News

कंगाली के जाल में फंसे पाकिस्तान का ये है कड़वा सच

Posted on: 01 Mar 2019 11:32 by Mohit Devkar
कंगाली के जाल में फंसे पाकिस्तान का ये है कड़वा सच

भारतीय सेना की बढ़ती ताकत के आगे पाकिस्तान एक बार फिर झुक गया है. पाकिस्तान आज भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनन्दन को अपनी गिरफ्त से रिहा करने जा रहा है. इससे पहले 26 फ़रवरी को भारतीय वायुसेना ने पुलवामा ने हुए आतंकी हमले का पाकिस्तान को काफी करारा जवाब दिया है. भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकी ठिकानों पर बमबारी कर उन्हें तबाह किया था. इसके बाद से पाकिस्तान भी अपनी कसार नहीं छोड़ रहा है. वह लगातार सीमा पर गोली-बारी कर रहा है. लेकिन भारतीय सेना भी इसमें कम नहीं वह पाकिस्तान को काफी मुंहतोड़ जवाब देते हुए अपना कमाल दिखा रही है.

बात अगर पाकिस्तान की आती है तो ख़बरों के मुताबिक, पाकिस्तान 28 हजार अरब रुपये से ज्यादा के कर्ज में डूबा हुआ है. पाकिस्तानी सेना भी भारतीय सेना से काफी पीछे है और इसी के साथ आतंकवाद भी पाकिस्तान में ही पनप रहे हैं. इसके अलावा पाक को वैश्विक दबाव अलग झेलना पड़ रहा है. तो ऐसे में ज़ाहिर ही बात है कि पाकिस्तान भारत की ताकत के आगे कुछ नहीं लगता है और इसी वजह से उसका झुकना लाजमी है.

आर्थिक स्थिति में भी पीछे है पाकिस्तान:

पाकिस्तान अपनी आर्थिक स्थिति के मामले में भी काफी पिछले चल रहा है. इस स्थिति में पाक 28 हजार अरब रुपये का क़र्ज़ भी अलग से लेकर बेठा है. आपको बता दें कि, पाकिस्तान में इमरान खान के प्रधानमंत्री बनने के बाद से उन्होंने भ्रष्टाचार को खत्म करने पर जोर दिया था. उन्होंने कहा था, ‘‘पाकिस्तान के इतिहास में हमने इस तरह की मुश्किल परिस्थितियों का सामना कभी नहीं किया. हमारा कर्ज का बोझ 28 हजार अरब रुपये है. अपने समूचे इतिहास में हम इतने ऋणग्रस्त कभी नहीं रहे, जितना पिछले 10 वर्षों में हो गए हैं.’’

इमरान खान को बेचनी पड़ी थी अपनी गाडियां:

पाक पीएम इमरान खान ने पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति को सुधारने के कई वादे किए थे.इसके तहत उन्‍होंने पीएम आवास की 102 लक्‍जरी कारों को बेचने के लिए पिछले साल 17 सितंबर को नीलामी रखी. उनके मुताबिक, इस धन राशि से पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति में कुछ सुधर करने की मदद मिलेगी. इस सबके चलते इमरान को निराश ही होना पड़ा. इन कारों के लिए उन्‍हें कोई भी ग्राहक नहीं मिला. जो गाड़ियां नीलाम होने के लिए रखी गईं थीं उनमें चार मर्सिडीज बेंज, 8 बुलेट प्रूफ बीएमडब्ल्यू, तीन 5 हजार सीसी की एसयूवी, 24 मर्सिडीज बेंज और दो 3 हजार सीसी की एसयूवी शामिल थीं.

पुलवामा हमले के बाद दुनिया की आंखों में धूल झोंकने के लिए पाकिस्‍तान ने आतंकी हाफिज सईद के आतंकी संगठन जमात-उद-दावा (जेयूडी) के दो नए फ्रंट पेश किए हैं. इनका नाम जम्‍मू-कश्‍मीर मूवमेंट और रेस्‍क्‍यू, रिलीफ एंड एजुकेशन फाउंडेशन है. पाकिस्तान के इस नए कदम के मुताबिक जम्‍मू-कश्‍मीर मूवमेंट को जेयूडी की जिम्मेदारी दी गई है. वहीं रेस्‍क्‍यू, रिलीफ एंड एजुकेशन फाउंडेशन को फलाह-ए इंसानियत फाउंडेशन यानि एफआईएफ से जुड़े काम को देखने को कहा गया है.

ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान में ही खोजा था:

बता दें कि, अमेरिकी सेना ने 2011 में ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान में ही खोज निकला था. इस दौरान 2 मई 2011 में ओसामा बिन लादेन को मौत के घाट उतारकर आतंकवाद के खिलाफ एक नई मिसाल बनाई थी.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com