Breaking News

इंदौर राइटर्स क्लब की बैठक का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा

Posted on: 21 May 2018 04:40 by Ravindra Singh Rana
इंदौर राइटर्स क्लब की बैठक का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा

रविवार के संपादक श्री सुभाष खंडेलवाल जी द्वारा सभी साथियों को मिठाई खिलाकर अभिनंदन किया गया आज की बैठक में सभी साथियों ने राइटर्स क्लब को लेकर अपने विचार रखें। आज की बैठक में सबसे पहले अपने विचार रखते हुए श्री सुभाष खंडेलवाल ने कहा कि इराक का नशा हो गया है और इसके माध्यम से सबका उज्जवल पक्ष सामने आया है  राइटर्स क्लब की बैठक से कई जिंदगी का लाभ मिल जाता है। श्री सरोज कुमार जी ने कहा कि यहां पर पॉजिटिव ऐब वाले लोग हैं।  साहित्यकार यहां सिर्फ साहित्य दिखाने के लिए नहीं आते  बल्कि साथ बैठकर सबके साथ आनंद भी लेते हैं और यहां आने के लिए सभी को उत्सुकता रहती है यहां का खुलापन भी बहुत प्रभावित करता है।

3

श्री रवींद्र व्यास जी ने कहा कि पहले रघुवीर सहाय सर्वेश्वर दयाल सक्सेना और तमाम बड़े लोगों की दिल्ली में गोष्ठियां हुआ करती थी उनमें गरमा गरम बहस भी होती थी लगभग वैसी ही थी इंदौर राइटर्स क्लब में देखने को मिलती है इराक की बैठक हमें हिम्मत भी देती है और यहां पर रचनात्मक दबाव भी होता है कि कुछ नया सुनाया जाए मुझे भी यहां पर काफी स्नेह मिला है उन्होंने कहा कि यहां पर जानने में सभी की रुचि रहती है और यहां विरोधियों का भी  सामंजस्य है।

5

मैं इसे ऐतिहासिक परिप्रेक्ष्य में देखता हूं श्री चंद्र शेखर बिरथरे ने कहा कि बहुत कुछ पाया है मैंने यहां से यहां पर समाज का जो रचना पक्ष है उसका एक बहुत बड़ा अनुभव हमें प्राप्त होता है । वे जब से  क्लब से जुड़े हैं उन्हें यहां कई उपलब्धियां मिली है श्री कृष्ण कांत निलोसे ने कहा कि  वे जवाहर भाई के कहने पर वे यहां आए थे यहां पर सभी पुराने साथी मिल जाते हैं और उन्हें नई ऊर्जा मिलती है वह यहां आकर बहुत अच्छा महसूस करते हैं।

4

श्री कीर्ति राणा ने कहा कि पहले तो यहां पर तीन चार लोग रहते थे लेकिन बाद में यह कारवां बनता गया।  सभी साथियों को इराक के सदस्यों के घर भी जाते रहना चाहिए ताकि मेल मिलाप का सिलसिला चलता रहे। डॉक्टर सुरेंद्र यादव ने कहा कि शरद जी का पहला कार्यक्रम हुआ था इंडियन कॉफी हाउस में और उसके पश्चात यह सिलसिला शुरू हो गया उनका उनका जो कविता संग्रह निकला है उसकी प्रेरणा भी राइटस क्लब से ही मिली है अब उनकी दूसरे संग्रह की तैयारी है ।  यहां पर आत्मीयता और परिवार का वातावरण है और यहां काफी ऊर्जा मिलती है।

6

श्री जवाहर चौधरी जी ने कहा कि यहां नेगेटिविटी नहीं है और क्लब में एक दूसरे से जुड़ने का माद्दा है श्री अश्विन भाई और श्री सुभाष भाई को जानना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण रहा है और यहां पर हमारा क्वालिटी समय व्यतीत होता है । अशोक देवले ने कहा कि लेखन का सिलसिला यहीं से शुरू हुआ पहले शौक था लेकिन अब अभिव्यक्ति भी हो रही है और जल्द ही एक नई पुस्तक की तैयारी भी है। डॉ स्वरूप बाजपेयी ने कहा कि  उन्होंने लिखा तो बहुत है लेकिन उनकी पुस्तक का प्रकाशन राइटर्स क्लब में आने के बाद ही हुआ है उन्होंने नियमित लिखना भी शुरू कर दिया है।

श्री तारिक शाहीन ने कहा कि लेखन की अलग-अलग विधाओं के लोग यहां पर इकट्ठा होते हैं यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है । अश्विन भाई का कहना था कि वह जबसे राइटर क्लब से जुड़े तो उन्हें कई नए साथी मिले और  वे यहां पर बेहद रचनात्मक महसूस करते हैं।  अश्विन जोशी जी ने कहा कि उन्हें पढ़ने लिखने का शौक तो शुरू से था और उनकी मां का भी हिंदी के प्रति आग्रह रहा वे शुरू से हिंदी उपन्यास कहानियां और कविताओं की किताबें पढ़ा करते थे अब राइटर्स क्लब में आने के बाद वह अच्छे पाठक और श्रोता दोनों बन गए हैं।

2019 के चुनाव के बाद वे लिखने का मन भी बना रहे हैं उन्होंने कहा कि इंदौर राइटर्स क्लब मेरे लिए रेगिस्तान के सोते की तरह है।  श्री अभय नेमा ने  कहा कि यहां सहमति और असहमति की बातें होती है मुक्त संवाद है यह स्थिति अन्य जगह देखने को नही मिलती है।  प्रद्युम्न पालीवाल ने कहा कि इतने सारे इतने बड़े लोगों के बीच बैठता हूं यह मेरे लिए जीवन भर स्मरणीय रहेगा और यह मेरे लिए उपलब्धि भी है। श्री शशिकांत गुप्ते ने कहा कि उन्हें यहां से बहुत कुछ सीखने को मिला है नए साथी भी मिले हैं और वह अब यहां आकर काफी उर्जा महसूस करते हैं।

अर्जुन राठौर ने बताया कि किस तरह से और रमेश जोशी जी और राजकुमार कुंभज से बातचीत होने के बाद बैठक का सिलसिला आरंभ हुआ और धीरे-धीरे इसमें लोग जुड़ते चले गए क्लब की एक उपलब्धि यह भी रही कि जो समाज में संवाद हीनता का माहौल था ,उसमें कम से कम यहां संवाद शुरू हुआ और धीरे-धीरे सभी एक दूसरे के लेखन और विचारों से परिचित होने लगे अर्जुन राठौर ने कहा कि इराक की उपलब्धि यह भी है कि 3 साल से इसकी बैठकों का सिलसिला निरंतर जारी है आज तक कभी ऐसा नहीं हुआ कि कोई बैठक नहीं हुई हो।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com