Indore : इंडेक्स हॅास्पिटल टीम की मेहनत लाई रंग, सही समय पर इलाज मिलने से बचा बुजुर्ग महिला का पैर

किसी भी मरीज को बीमारी की सही जानकारी मिलने के साथ सही समय पर इलाज मिलना सबसे जरूरी होता है।

इंदौर(Indore) : किसी भी मरीज को बीमारी की सही जानकारी मिलने के साथ सही समय पर इलाज मिलना सबसे जरूरी होता है। इंडेक्स मेडिकल कॅालेज हॅास्पिटल एंड रिसर्च सेंटर की टीम की मेहनत से एक बुजुर्ग महिला का पैर कटने से बच गया।

70 वर्षीय बुजुर्ग महिला हज़रा बी को मार्च 2021 में उन्हें सॉफ़्ट टिशू सार्कोमा बीमारी बतायी गयी थी। इंदौर के कई निजी और सरकारी कैंसर अस्पताल में जहाँ उन्हें दायाँ पैर काटने की सलाह दी गयी थी। इसके पहले उन्होंने इस बीमारी के लिए कई अस्पतालों में इलाज भी किया और इसके बाद इंडेक्स हॅास्पिटल में आए। यहां महिला के दाएं जाँघ पर पिछले हिस्से में गठान ( 22.3.90.11.6) की शिकायत थी।

कई घंटों के आपरेशन के बाद मिली सफलता

Read More : अपनी मां और होने वाली सांस के साथ आखिर ऐसा क्या कर दिया Tejasswi ने, Karan बोले – हे भगवान ! तुम…

 

बुजुर्ग महिला ने इंडेक्स मेडिकल कॅालेज के डॉक्टर अमित कटलाना को इस बीमारी के बारे में बताया। इसके बाद डॅाक्टर कटलाना ने महिला को उनका पैर बचाने के लिए सिर्फ गठान निकालने की सलाह दी। इसके बाद महिला का ऑपरेशन 9 जून को किया गया। कई घंटों के ऑपरेशन में डॅा. कटलाना और उनकी टीम ने ऑपरेशन में पैर की नस एवं कुछ मांसपेशियों को बचा लिया गया।

मरीज महिला का पैर कटने से बचा लिया

डॉक्टर अमित कटलाना ने बताया कि मरीज के ऑपरेशन में हमारी टीम को काफी मेहनत करना पड़ी। एक ओर जहां कई निजी अस्पतालों और सरकारी अस्पतालों ने महिला को पैर काटने की सलाह दी। हमारी टीम घंटों मेहनत कर इस सफल ऑपरेशन को अंजाम देकर मरीज महिला का पैर कटने से बचा लिया है। मरीज ऑपरेशन के बाद दाएं पैर को काफ़ी हद तक चलाने में सक्षम थी।

Read More : Janhvi Kapoor ने लेस कोर्सेट आउटफिट पहन दिए हॉट पोज़, फोटो पर फ़िदा हुए फैंस

अब 15 दिन तक सहारे के जरिए चलने भी लग गई और अब अस्पताल से उन्हें डिस्चार्ज कर दिया है। इस सफल ऑपरेशन के लिए डॅाक्टरों की टीम की इंडेक्स समूह के चेयरमैन सुरेश सिंह भदौरिया, वाइस चेयरमैन मयंक राज सिंह भदौरिया, डायरेक्टर आर एस राणावत, एडिशनल डायरेक्टर आर सी यादव, मेडिकल कॅालेज डीन डॅा.जीएस पटेल,मेडिकल सुप्रिडेंटेंड लेफ्टिनेंट कर्नल डॉ.अजयसिंह ठाकुर, आईआईडीएस अस्सिटेंट डीन डॉ.दीप्ति सिंह हाड़ा ने सराहना की।

Source : PR