Breaking News

इंदौर की हाई प्रोफाइल ट्विंकल डागरे मर्डर केस के अनसुलझे रहस्य

Posted on: 12 Jan 2019 10:45 by Ravindra Singh Rana
इंदौर की हाई प्रोफाइल ट्विंकल डागरे मर्डर केस के अनसुलझे रहस्य

अर्जुन राठौर

पिछले 2 सालों से इंदौर की राजनीति में चर्चा के विषय बने कांग्रेस नेत्री ट्विंकल डागरे मर्डर केस के कई ऐसे अनसुलझे रहस्य हैं जिनका खुलासा अभी होना बाकी है। उल्लेखनीय है कि ट्विंकल डागरे मी ने भारतीय पार्टी के वरिष्ठ नेता जगदीश करो दिया के बेटे तथा पूर्व एल्डरमैन अजय से मंदिर में प्रेम विवाह किया था। ट्विंकल के प्रेम विवाह करने के बाद ही परिवार में विवाह शुरू हो गए ऐसा माना जाता है कि जगदीश करो तिया को अपने बेटे अजय तथा ट्विंकल का विवाह पसंद नहीं था जगदीश ट्विंकल को ठीक लड़की नहीं मानता था।

इसके बाद जगदीश करोतिया द्वारा गहरी साजिश रची गई जिसका खुलासा उसके बेटे अजय ने खुद किया है अजय ने पुलिस से कहा कि 16 अक्टूबर 2016 को जब ट्विंकल घर से नाश्ता लेने जा रही थी। तभी उसका अपहरण कर के घर ले जाया गया और रात में उसकी हत्या कर दी गई। अगले दिन सुबह उसका शव कार में रखकर टिगरिया बादशाह इलाके में अगरबत्ती फैक्ट्री के पास ले जाकर जला दिया गया। अजय ने पुलिस को यह भी कहा कि वह और उसके पिता जब शव जला रहे थे तो फैक्ट्री के एक चौकीदार ने उन्हें देख लिया था तब पिता ने उसे यह बोल कर भगा दिया था कि उनका कुत्ता मर गया है उसे जला रहे हैं इसके बाद साजिश पूर्वक नगर निगम के 3 कर्मचारियों से जलाए गए स्थान पर कचरा डलवा दिया गया और उसमें आग भी लगा दी।

यहां के जले हुए कचरे को बाद में नाले में बहा दिया गया जिसमें ट्विंकल के शव के टुकड़े भी थे। अजय का यह भी कहना है कि उसकी मां को इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी बहुत बाद में दी गई। डोंगरे हत्याकांड में एक महत्वपूर्ण बात यह सामने आई है कि पिछले 2 सालों से यह हाई प्रोफाइल मर्डर केस रहस्य के घेरे में था और ट्विंकल के माता-पिता द्वारा पुलिस को अनेकों बार शिकायत करने के बाद भी इस पूरे प्रकरण में कोई सुनवाई नहीं हो रही थी जबकि माता-पिता द्वारा पहले ही दिन यह आशंका व्यक्त की गई थी इस हत्या में जगदीश का हाथ हो सकता है।

इसके पश्चात हाई कोर्ट में एक याचिका भी दायर की गई थी हाई कोर्ट ने इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस को यह निर्देश दिए थे 3 महीने में ट्विंकल को पेश किया जाए और इसके बाद ही पुलिस ने दोबारा जांच की और इस रहस्य का पर्दाफाश हो गया।

यह भी कहा जा रहा है भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल के कारण अजय से पूछताछ नहीं हो पा रही थी लेकिन भाजपा का शासन जाते ही पुलिस हरकत में आ गई और अजय से सब कुछ कबूल करवा लिया गया इसमें सबसे बड़ी चौंकाने वाली बात यह भी सामने आई है कि ट्विंकल ने मौत से पहले माता-पिता को फोन पर यह कहा था। कि उसे टॉयलेट सीट के नीचे डाला जा रहा है लेकिन इसके बाद भी पुलिस उसे तलाश नहीं कर सकी थी इस मामले में एसटीएफ ने भी जांच की थी तब जगदीश की कॉल डिटेल उन इलाकों में मिली थी जहां ट्विंकल मौजूद थी।

चौंकाने वाली बात यह है जब ट्विंकल ने फोन पर अपने माता पिता को बता दिया था कि उसे टॉयलेट सीट के नीचे डाला जा रहा है उसके बावजूद कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस कोई कार्रवाई क्यों नहीं कर पाई थी ।जगदीश करोतिया के बारे में यह भी कहा जाता है कि वह पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता का समर्थक था और उसके बेटे अजय को सुदर्शन गुप्ता की अनुशंसा से ही एल्डरमैन बनाया गया था। इसमें एक और बात चौंकाने वाली यह भी सामने आई है कि फरवरी 2010 में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद नितिन गडकरी द्वारा जगदीश के घर पर भोजन किया गया था और उसमें पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित अनेक नेता मौजूद थे।

अब इस हाई प्रोफाइल मर्डर केस के कई ऐसे तथ्य हैं जिनका आज तक पता नहीं चल सका है। मसलन 2 साल तक यह पूरा मामला कैसे दबा रहा, क्या 2 साल तक पुलिस के ऊपर कोई दबाव था यही वजह है कि 2 साल तक कोई गंभीर कार्यवाही नहीं की गई वह तो भला हो हाई कोर्ट के जजेस का जिन्होंने 3 महीने में ट्विंकल को जिंदा या मुर्दा पेश करने के आदेश दिए और उसके बाद ही पुलिस सक्रिय हुई।

Read More:-

मर्डर केस में गिरफ्तार हुई ये टीवी एक्ट्रेस

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com