Breaking News

21वीं सदी महिला लेखन की सदी है: Usha Kiran Khan

Posted on: 04 Mar 2019 12:05 by Ravindra Singh Rana
21वीं सदी महिला लेखन की सदी है: Usha Kiran Khan

अखिल भारतीय महिला साहित्य समागम मैं आज के कार्यक्रम के अतिथि प्रसिद्ध लेखिका उषा किरण खान ने कहा कि आज के इस बेहद गरिमामय कार्यक्रम के लिए वामा साहित्य मंच तथा घमासान डॉट कॉम बधाई के पात्र हैं।

उन्होंने कहा कि हमारे धर्म में कभी भी किसी को भी कम नहीं समझा गया महा शिवरात्रि पर पूजा होती है शिव की जो अर्धनारीश्वर है। पुरुषों द्वारा अपने लाभ के लिए धीरे-धीरे महिलाओं को अलग हटा दिया गया लेकिन अब फिर से समाज में अपना स्थान बनाना शुरू कर दिया है महिलाओं के लिए जरूरी है कि वे अपने आप को फिर से सशक्त करें।

Akhil Bharaiy Mahila Sahity Samagam-indore

समाज में स्थान बनाएं साहित्य के माध्यम से किसी को प्रोत्साहित अभी किया जाता है जब लोग पढ़े लिखे हो। शिक्षित हो आजकल महिला लेखन की बहुत सारी बातें चल रही है महिलाएं को किसी न किसी रूप में अपने आप को व्यक्त करते रहना चाहिए। वंदे मातरम अभी जो हमने सुना है उसे भी तो महिला ने ही गाया है।

Read More:- उषा किरण खान तथा कृष्णा अग्निहोत्री का सम्मान हुआ

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com