इंदौर: मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान, लगाया 70 लाख का जुर्माना

हानिकारक रसायनों से फल पकाने वालों के विरूद्ध भी कार्यवाही की जाये। संभाग में ऐसे स्थान चयनित कर जहाँ गंदे पानी से सब्जी उगाई जा रही है, वहाँ भी प्रभावी कार्यवाही करें।

0
26
adulteration

इंदौर: इंदौर संभाग में मुख्यमंत्री द्वारा लिये गये संकल्प मध्यप्रदेश को मिलावट मुक्त प्रदेश बनाने कि दिशा में अभियान चलाकर प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। संभाग में दूध तथा इससे बने उत्पादों और अन्य खाद्य सामग्रियों में मिलावट की रोकथाम के लिए सख्त कदम उठायें जा रहे हैं। इस सिलसिले में इंदौर संभाग में विगत महीनों में मिलावटी खाद्य सामग्री बनाने तथा उनका विक्रय करने वाले तीन व्यक्तियों को राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (रासुका) के तहत निरूद्ध किया गया है। साथ ही छह व्यक्तियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराई गई है। मिलावटी तथा अमानक खाद्य सामग्री बनाने तथा उनका ‍विक्रय करने वालों के विरूद्ध दर्ज 159 प्रकरणों का निराकरण करते हुए 70 लाख 86 हजार रूपये का जुर्माना किया गया है।

यह जानकारी आज यहां संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी द्वारा ली गई संभागीय समीक्षा बैठक में दी गई। बैठक में उन्होने इंदौर संभाग में चल रहे अभियान के तहत की गई कार्यवाही की जिलेवार समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होने निर्देश दिये कि अभियान को और अधिक प्रभावी तथ व्यापक बनाया जाये। दूध तथा इससे बने उत्पादों के अलावा आटा, बेसन, खाद्य तेल आदि खाद्य सामग्रियों के भी सेम्पल लिये जाये। हानिकारक रसायनों से फल पकाने वालों के विरूद्ध भी कार्यवाही की जाये। संभाग में ऐसे स्थान चयनित कर जहाँ गंदे पानी से सब्जी उगाई जा रही है, वहाँ भी प्रभावी कार्यवाही करें।

उन्होने अभियान का प्रभावी बनाने के लिए सूचना तंत्र को मजबूत करने की बात कही। उन्होने ऐसे चिलिंग प्लांट जहाँ दूध तथा अन्य खाद्य सामग्री रखी जा रही है, वहाँ भी मानकता की सुनिश्चित्ता की बात पर जोर दिया। उन्होने कहा कि यह अभियान आमजन के स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ महत्वपूर्ण अभियान है। अभियान के तहत निरंतर कार्यवाही की जाये।

बैठक में बताया गया कि अभियान के तहत इंदौर सहित खरगोन और बड़वानी जिले में एक-एक मिलावट करने वाले आरोपियों को रासुका में निरूद्ध किया गया है। बताया गया है कि संभाग में एक जनवरी से लेकर अबतक दूध व उससे जुड़े उत्पाद के 539 सेम्पल लिये गये इसमें से 180 की रिपोर्ट प्राप्त्‍ हो गई है। इनमें से 69 अमानक पाये गये। संबंधित दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की जा रही है। इसी तरह इस अवधि में अन्य खाद्य उत्पादों के 585 सेम्पल लिये गये इसमें से 402 की रिपोर्ट प्राप्त्‍ हो गई है। इनमें से 111 अमानक पाये गये। संबंधित दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here