इंदौर प्रशासन तकनीक के जरिए करेगा उन्नत यातायात सिग्नल प्रबंधन

0
21

इंदौर: शहर प्रशासन द्वारा निम्नलिखित तकनीक के जरिए उन्नत यातायात सिग्नल प्रबंधन और यातायात प्रवर्तन प्रणाली युक्त एकीकृत इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम का कार्यान्वयन कर रहा है।

1. अनुकूली ट्रैफिक सिग्नल कंट्रोल सिस्टम (एटीसीएस)

शहर के 50 ट्रैफिक जंक्शनों पर वाहनों की भीड़ मुक्त आवाजाही में आसानी के लिए 4 डी रडार की स्थापना के जरिए अनुकूलित ट्रैफिक सिग्नल कंट्रोल सिस्टम को लागू करने की योजना बनाई गई है। इससे नागरिकों के लिए समग्र यात्रा समय को कम करने में भी लाभ होगा। रडार ट्रैफिक सिग्नल पर स्टॉप लाइन से 180 मीटर की दूरी तक वाहनों को पकड़ते हैं।

2. रेड लाइट वॉयलेशन डिटेक्शन (त्स्टक्)

यह कुछ चैराहों पर तेजी के साथ लाल बत्ती के उल्लंघन को पकड़ लेगा।

3. स्पीड वायलेशन डिटेक्शन सिस्टम (एसवीडीएस)

यह प्रणाली तकनीक से लैस है। 4 डी रडार 320 किमी प्रति घंटे तक की उच्च गति के उल्लंघन का पता लगाने में सक्षम हैं और पूरे शहर में 20 लेन स्थापित किए जाएंगे।

4. सीसीटीवी निगरानी

परियोजना में जंक्शन क्षेत्र की लाइव निगरानी बनाए रखने के लिए प्रमुख चैराहों पर 218 सीसीटीवी फिक्स्ड कैमरे और 20 पीटीजेड कैमरे भी शामिल हैं। यह ट्रैफिक जंक्शनों पर अवांछित गतिविधियों पर नजर रखने में मदद करेगा।

5. पब्लिक एड्रेसिंग सिस्टम (पीए) और इमरजेंसी कॉल बॉक्स (ईसीबी)

ट्रैफिक जंक्शन स्मार्ट पीए और ईसीबी सिस्टम से लैस होंगे, जो कमांड सेंटर से ऑपरेटरों को सक्षम करने के लिए जंक्शनों पर सार्वजनिक रूप से महत्वपूर्ण सूचनाओं को प्रसारित करने और सार्वजनिक रूप से कनेक्ट करने के लिए सक्षम करेंगे। आपातकालीन स्थिति के मामले में सीधे कमांड सेंटर में।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here