अब भारत की ड्रोन सेना करेगी दुश्मनों के ठिकाने तबाह

0
28

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने पीओके के बालाकोट में कार्रवाई कर आतंकियों के ठिकाने तबाह कर दिए थे। इसके बाद भारतीय वायुसेना के हौसले बुलंद है, बल्कि अपने बेड़े छोटे-बड़े सभी प्रकार के लड़ाकू विमानों को शामिल कर रहा है। इसी बीच एक खबर सामने आ रही है कि भारतीय वायुसेना हल्के ड्रोन विमान को अपने बेडे़े में शामिल करेगी, जो बालाकोट जैसे स्थानों पर कहर बरपाएंगे। सरकारी हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) और बेंगलुरू स्थित स्टार्टअप न्यूस्पेस रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी के इंजीनियरों और सॉफ्टवेयर विशेषज्ञों की टीम हल्के ड्रोन विमान तैयार कर रही है। अगले दो सालों में ये विमान भारतीय वायुसेना का हिस्सा हो सकते हैं।

मानवरहित ड्रोन विमान दुश्मक के इलाके में घुसकर भारी तबाही मचा सकते हैं। ड्रोन विमानों का झुंड दुश्मन के इलाके में घुसेगा, अपने आप निशाने तक उड़कर पहुंचेगा और फिर अत्याधुनिक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी प्रशिक्षण केंद्र जैसे निशानों पर कतई सधे हुए समन्वित हमले करेगा। ड्रोन सेना में दर्जनों ड्रोन एक साथ उड़ान भरेंगे और एक साथ हमला करेंगे।

अगर उन्हें दुश्मन ने अपनी सीमा में देख भी लिया तो वो कुछ ड्रोन मार गिरा सकता है, लेकिन झुंड में मौजूद विमानों की संख्या इतनी ज्यादा होगी कि सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों वाले दुश्मन के रक्षा कवच के पलटवार के बावजूद कुछ विमान चकमा देकर मिशन को पूरा कर लेंगे। बताया जा रहा है कि ड्रोन विमानों में बैटरी का इस्तेमाल किया गया है जो इन्हें 100 किलोमीटर प्रति घंटे से भी तेज रफ्तार देने में सक्षम है। यह बैटरी दो घंटे तक चलेगी और इतने वक्त में ड्रोन विमानों का झुंड निशाने तक पहुंचकर अपने काम को अंजाम दे सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here