Breaking News

99 प्रतिशत हमारे देश के लोग नहीं जानते इस बारें में, क्या आप जानते है?

Posted on: 20 Oct 2018 18:02 by Ravi Alawa
99 प्रतिशत हमारे देश के लोग नहीं जानते इस बारें में, क्या आप जानते है?

वैसे तो हम भारतीय ये अच्छी तरह से जानते है कि हमारे देश में तीन तरह की सेना है. थल सेना,जल सेना और वायु सेना. हमारे भारत की ये तीनों सेनाएं दिन रात हमारे देश की रक्षा करती हैं.

Via

हमारे भारत की ये तीनों सेनाएं देश की आन बान और शान कही जाती हैं. कई बार आपने बहुत से मौकों पर इन तीनों सेनाओं द्वारा सैल्यूट करते देखा होगा, लेकिन क्या आपने कभी एक बात पर गौर किया है कि तीनों सेना अलग – अलग तरह से सैल्यूट करती है. अगर नहीं जानते तो आज हम आपको बताते है कि जल, थल और वायु सेना कैसे सैल्यूट करते है और क्या अंतर होता है?

Via

सबसे पहले तो आपको यह बता दें कि सैल्यूट का अर्थ अपने से बड़े अधिकारियों को सम्मान देना होता है. हमारी भारतीय थल सेना जिसे हम इंग्लिश में इंडियन आर्मी भी कहते है, यह खुले हाथों से सैल्यूट करते है. इस तरह की उनके हाथ का पूरा पंजा दिखाई देता है. उनकी सभी ऊंगलियां खुली रहती है और अंगूठा दोनों आईब्रो के बीच होता है.

Via

हमारी भारतीय जल सेना जिसे हम इंडियन नेवी भी कहते है. यह जवान भी खुले हाथों से सैल्यूट करते है, लेकिन इन जवानों का पंजा इंडियन आर्मी की तरह नजर नहीं आता है, बल्कि वह नीचे की तरफ होता है. ऐसा इसलिए क्योंकि पुराने जमाने में जब नेवी के जवान जहाज में काम करते थे तो उनके हाथ गंदे हो जाते थे. तो वह अपने पंजे को छिपाकर सैल्यूट करते थे. फिर क्या बस तब से ही ऐसे सैल्यूट करने की परंपरा बन गई.

Via

हमारी भारतीय वायु सेना जिसे हम एयर फोर्स कहते है. वायु सेना भी आर्मी की तरह ही सैल्यूट करते है, लेकिन सैल्यूट के समय उनके हाथ से 45 डिग्री का कोण बनता है. इसका अर्थ यह भी होता है कि वायु सेना आसमान की ओर अपने कदम को दर्शाती है.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com