देशमध्य प्रदेश

व्यापार, संस्थान खोलने और स्पाट फाइन के संबंध में आयुक्त ने जारी किए दिशा निर्देश

आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा जिला प्रशासन द्वारा जारी निर्देश के क्रम में आदेश जारी कर शहर की विभिन्न गतिविधियों यथा:- निर्माण, शासकीय एवं अर्द्धषासकीय कार्यालयों को खोलना, अत्यावश्यक सेवाओं से जुडे टेड्रिंग की गतिविधियाॅ खोलना, लोहा मण्डी-ट्रांसपोर्ट नगर आदि खोलने की परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए कोरोना कोविड-19 के संक्रमण पर नियंत्रण की दृष्टि से चेहरे पर माॅस्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग, हाथ साफ करने हेतु सेनेटाईजर, साबुन, पानी की समुचित व्यवस्था, थूंकने पर प्रतिबंध, अनाधिकृत रूप से बिना कलेक्टर, जिला-इंदौर की अनुमति के कोई भी संस्थान/कार्यालय/दुकान आदि संचालित करने के संबंध में स्पाॅट फाईन करने संबंधी अधिकार प्रदत्त किये गये है:-

1. चेहरे पर मास्क:-

इंदौर जिले में केन्द्र एवं राज्य शासन के समस्त शासकीय एवं अर्द्ध-शासकीय कार्यालयों में मास्क के रूप में रूमाल/गमछे आदि का उपयोग अनिवार्य करते हुए इसके उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति या कार्यक्षेत्र/संस्थान के प्रभारी पर स्पाॅट फाईन के अधिकार अंतर्गत व्यक्ति विषेष पर रूपये 100/- तक तथा किसी कार्यक्षेत्र जैसे व्यावसायिक संस्थान, दुकान, कार्यालय के अंदर उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित संस्थान प्रभारी व्यक्ति के विरूद्ध रूपये 1000/- से लेकर रूपये 10000/- तक का स्पाॅट फाईन प्रावधानित किया गया है। यह भी स्पष्ट किया गया है कि संस्थान प्रमुख/प्रभारी व्यक्तियों पर रूपये 1000/- से लेकर रूपये 10000/- तक का स्पाॅट फाईन का निर्धारण संस्थान के महत्व एवं उसमें कार्यरत व्यक्तियों की क्षमता अनुसार किया जावे। यह कार्यवाही हेतु प्रभारी सहायक राजस्व अधिकारी एवं प्रभारी मुख्य स्वच्छता निरीक्षक द्वारा की जाएगी

2. सोशल डिस्टेसिंग:

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जिला इंदौर के द्वारा समय-समय पर गतिविधियों के संचालन की अनुमति से संबंधित संस्थानों चाहे वे उद्योग या व्यावसायिक, कार्यालय, ट्रेडिंग स्वरूप के हो के संस्थान प्रमुख को सोशल डिस्टेसिंग 2 मीटर की दूरी प्रावधानित की गई है। इसीप्रकार सार्वजनिक स्थलों पर भी उक्त 2 मीटर की दूरी दो व्यक्तियों के मध्य निर्देषित की गई है। उक्त व्यवस्था के उल्लंघन की स्थिति मंे संस्थान या प्रभारी पर रूपये 1000/- का जुर्माना स्पाॅट फाईन मौके पर करने हेतु आयुक्त नगर पालिक निगम इंदौर को भी अधिकृत किया गया है। यह भी स्पष्ट किया गया है कि दोबारा उल्लंघन होने की स्थिति में संस्थान को बंद की सील किया जा सकेगां एवं उसका संचालन संबंधी लायसेंस स्थगित करने हेतु अधिकृत किया गया है। इसके अतिरिक्त व्यक्ति विशेष पर प्रति व्यक्ति यह स्पाॅट फाईन राषि रूपये 100/- निर्धारित की गई है। यह कार्यवाही सहायक राजस्व अधिकारी एवं प्रभारी मुख्य स्वच्छता निरीक्षक द्वारा की जाएगी

3. हाथ साफ करने हेतु सेनेटाईजर, साबुन-पानी की समुचित व्यवस्था:-

समस्त प्रकार के संस्थानों, कार्यक्षेत्र, ईकाईयों आदि में कार्यरत व्यक्तियों के लिए संस्थान प्रभारियों को समुचित मात्रा में जगह-जगह सेनिटाईजर रखना अनिवार्य किया गया है तथा संबंधित टायलेट की सफाई, वाॅष बेसिन में समुचित जल प्रदाय, साबुन की व्यवस्था अनिवार्य की गई हैं। इसका उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति या कार्यक्षेत्र/संस्थान के प्रभारी पर स्पाॅट फाईन कर रसीद प्रदान करते हुए राषि पाने हेतु आयुक्त, नगर पालिक निगम इंदौर को अधिकृत किया गया है तथा स्पाॅट फाईन की राषि रूपये 1000/- निर्धारित की गई है। यह कार्यवाही समस्त झोनल अधिकारी/स्वास्थ अधिकारी द्वारा की जाएगी

4. थूकने पर प्रतिबंध:-

निगम सीमा क्षेत्रांतर्गत नागरिको को कोराना कोविड-19 के बचाव की दृष्टि से सार्वजनिक स्थलों पर थूकना प्रतिबंधित किया गया है, उक्त प्रतिबंध के उल्लंघन पर रूपये 200/- का स्पाॅट फाईन रसीद दी जाकर करने हेतु आयुक्त, नगर पालिक निगम इंदौर को अधिकृत किया गया है साथ ही यह भी स्पष्ट किया गया है कि अर्थदण्ड की राषि जमा नहीं किये जाने पर इस आदेष के उल्लंघन स्वरूप उस व्यक्ति के विरूद्ध नगर निगम के अधिकारी उसे बलात पकडकर थाने में ले जावेंगे तथा धारा 188 आय.पी.सी. के तहत प्रकरण पंजीबद्ध करने हेतु लिखित आवेदन प्रस्तुत करेंगे, जिसके आधार पर संबंधित थाने में एफ.आई.आर. के साथ अन्य सुसंगत धाराओं तथा धारा 353 आय.पी.सी. के तहत् प्रकरण दर्ज किया जावेंगा । यह कार्यवाही प्रभारी मुख्य स्वच्छता निरीक्षक द्वारा की जावेगी

5. अनाधिकृत रूप से बिना कलेक्टर, जिला-इंदौर की अनुमति के कोई भी संस्थान/कार्यालय/दुकान आदि संचालित करने के संबंध में स्पाॅट फाईन:-

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी, जिला-इंदौर के बिना अनुमति के किसी भी प्रकार की गतिविधि/कार्यालय खोलने का उल्लंघन पाये जाने की स्थिति मंे निम्नानुसार 02 प्रकार की कार्यवाहियाॅ निर्देषित करते हुए आयुक्त, नगर पालिक निगम, इंदौर द्वारा प्राधिकृत झोनवार अधिकारी को अधिकृत करते हुए स्पाॅट फाईन की व्यवस्था नियत की गई है:-

5.1-संबंधित संस्थान/गतिविधि, जो स्थाई संपत्ति में होगी तो उसे सील करके उसे संचालित करने का लायसेंस तत्काल प्रभाव से स्थगित किया जा सकेंगा एवं कोविड-19 संक्रमण के चलते ऐसे संस्थान/गतिविधियाॅ समस्त अवधि के लिये सील रहेंगी ।

5.2-संबंधित संस्थान सील करने के साथ-साथ संस्थान प्रभारी से रूपये 1000/- का उक्त उल्लंघन स्वरूप स्पाॅट फाईन मौके पर रसीद देते हुए लेने का अधिकार रहेंगा ।
( यह कार्यवाही समस्त झोनल अधिकारी द्वारा की जाएगी

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी, जिला-इंदौर के उल्लेखित आदेष दिनांक 29/05/2020 की छायाप्रति संलग्न प्रेषित करते हुए अधिकृत समस्त झोनल अधिकारियों/स्वास्थ्य अधिकारियों/प्र. सहायक राजस्व अधिकारियों/प्र. मुख्य स्वच्छता निरीक्षकों के द्वारा अपर आयुक्त (राजस्व/स्वच्छ भारत मिषन), उपायुक्त (राजस्व), संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी के अधीक्षण, नियंत्रण एवं निर्देषन में रहते हुए प्रभावी रूप से उपरोक्त निर्देषित कार्यवाही दिन-प्रतिदिन के आधार पर कराई जावेंगी ।

संबंधित अपर आयुक्त, उपायुक्त, झोनल/स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा अधीनस्थ अमले के द्वारा की जा रही कार्यवाही की नियमित समीक्षा करते हुए कार्यवाही पर समुचित नियंत्रण रखा जावें तथा किसी भी स्तर से षिकायत प्राप्त होने की स्थिति में तत्काल संज्ञान लेते हुए अग्रिम कार्यवाही भी कराई जावें ।

Related posts
देश

सितंबर में होगी JEE-NEET की परीक्षाएं, तारीखों का हुआ ऐलान

नई दिल्ली- कोरोना काल में जहाँ 10वीं…
Read more
देश

सांसद राहुल शेवाले ने पीएमओ को लिखा पत्र, राष्ट्र सुरक्षा पर जताई चिंता

नई दिल्ली: रेहान सिद्दीकी जो अमेरिका…
Read more
देश

कलेक्टर द्वारा सारंगपुर अनुविभाग का भ्रमण सारंगपुर के नजदीक नेशनल हाइवे के दुर्घटना स्थल का किया निरीक्षण

सारंगपुर(कुल्दीप राठौर) कलेक्टर नीरज…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group