Breaking News

भारत समुद्र में बढ़ाएगा ताकत, इस देश से किया समझौता India will increase strength in sea, Compromised by this country

Posted on: 08 Mar 2019 12:42 by Pawan Yadav
भारत समुद्र में बढ़ाएगा ताकत, इस देश से किया समझौता India will increase strength in sea, Compromised by this country

पुलवामा हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव चल रहा है। इसी बीच दोनों देश अपनी सैन्य शक्ति बढ़ाने में लगे हुए हैं। अब भारत ने रूस के साथ तीन अरख डाॅलर का समझौता किया है। इस समझौते के तहत रूस 10 वर्ष की अवधि में भारतीय नौसेना के लिए परमाणु क्षमता से संपन्न हमलावर पनडुब्बी पट्टे तैयार कर देगा। सैन्य सूत्रों के मुताबिक रूस अकुला वर्ग के पनडुब्बी को भारतीय नौसेना को 2025 तक सौंपेगा। इस अकुला वर्ग पनडुब्बी को नाम चक्र आईआईआई दिया गया है।

भारतीय नौसेना को पट्टे पर दी जाने वाली ये तीसरी रूसी पनडुब्बी होगी। हालांकि रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता से जब इस समझौते के बारे में पूछा तो उन्होंने कुछ कहने से इनकार कर दिया। सूत्रों की माने तो पहली रूसी परमाणु संचालित पनडुब्बी आईएनएस चक्र को तीन वर्ष की लीज पर 1988 में लिया गया था। दूसरी आईएनएस चक्र को लीज पर दस वर्षों की अवधि के लिए 2012 में हासिल किया गया था। सूत्रों ने बताया कि चक्र आईआई की लीज 2022 में समाप्त होगी और भारत लीज को बढ़ाने की ओर देख रहा है।

अमेरिका ने भारत को फिर चेताया

पुलवामा हमले के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव जारी है। पाकिस्तान फिर भी आतंकियों के खिलाफ कड़े कदम नहीं उठा रहा है। इसी बीच अमेरिका ने एक बार फिर पाकिस्तान को आतंकी संगठनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय का कहना है कि हमने पाक को कहा है कि वह अपनी धरती पर पल रहे आतंकी संगठनों के खिलाफ श्स्थायी एवं लगातार कार्रवाई करे।

पुलवामा में हुए हमले के बाद से ही पाकिस्तान वैश्विक दबाव में है। वहीं इसका बदला लेने के लिए भारतीय वायुसेना ने भी बीते 26 फरवरी को बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंपों को ध्वस्त कर दिया था। इसके बाद पाकिस्तान ने कुछ आतंकी संगठनों और कुछ नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की थी।

विदेश मंत्रालय के उपप्रवक्ता रॉबर्ट पालाडिनो ने गुरुवार को कहा, ‘मैं कहूंगा कि हम, अमेरिका इन कदमों पर ध्यान देते हैं और हम पाकिस्तान से फिर से यह अपील करेंगे कि वह आतंकवादी समूहों के खिलाफ लगातार और स्थायी कदम उठाए जिससे भविष्य में हमले रुकेंगे और क्षेत्रीय स्थिरता को बढ़ावा मिलेगा।’

हम फिर से अपील करते हैं कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं का पालन करे और आतंकवादियों की पनाहगाह नष्ट करे एवं उनके वित्त पोषण को रोके।’ रॉबर्ट ने जैश के नेता मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने संबंधी प्रश्न का सीधा उत्तर नहीं दिया, लेकिन उन्होंने कहा कि अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उसके सहयोगी आतंकवादी संगठनों और उसके सरगनाओं की संयुक्त राष्ट्र की सूची को अपडेट करना चाहते हैं।

Read More : अमेरिका जैश-ए-मोहम्मद और आतंकी मसूद पर करेगा कार्रवाई

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com