मंदी से जूझ रहे भारत को लगा बड़ा झटका, वर्ल्ड बैंक का अनुमान गिरेगी विकास दर

0
42

नई दिल्ली। आर्थिक मंदी से घिरते जा रहे देश को वल्र्ड बैंक से बड़ा झटका लगा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वल्र्ड बैंक ने भारत की विकास दर का अनुमान घटा दिया है। बैंक ने ग्रोथ रेट घटाकर 6 फीसदी कर दी है। हालांकि वर्ष 2018-19 में ग्रोथ रेट 6.9 फीसदी रही थी। हालांकि साउथ एशिया इकोनॉमिक फोकस के लेटेस्ट एडिशन में विश्व बैंक ने ये भी कहा कि साल 2021 में भारत ग्रोथ रेट को 6.9 फीसदी फिर से रिकवर कर सकता है।

इधर, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने देश में जारी आर्थिक मंदी को लेकर एक अजीब तर्क दिया है। दरअसल, उन्होंने आर्थिक मंदी को फिल्मों की कमाई से जोड़ते हुए कहा है कि तीन-तीन फिल्में करोड़ों की कमाई कर रही है, देश में आर्थिक मंदी कहां है। कानून मंत्री का कहना है कि तीन फिल्मों ने 120 करोड़ रुपए कमाए हैं। रविशंकर प्रसाद ने मुंबई में मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि देश में मोबाइल, मेट्रो और सड़कों का निर्माण हो रहा है, जिसके जरिए लोगों को रोजगार मिल रहा है। हमारी अर्थव्यवस्था का ढांचा आधरभूत ढांचा मजबूत है, इसके अलावा महंगाई पर भी नियंत्रण बना हुआ है। केंद्रीय मंत्री का दावा है कि एफडीआई सबसे ऊंचे स्तर पर है।

ravishankar prasad

प्रसाद का कहना है कि देश में जीडीपी विकास दर बनी हुई है। भारत में मोबाइल मैनुफैक्चरिंग की 268 फैक्ट्रियां हैं। मेट्रो का निर्माण किया जा रहा है। सड़क निर्माण हो रहा है। लोगों के पास रोजगार है। उन्होने एनएसएसओ द्वारा जार किए गए नौकरी के आंकड़ों को खारिज करते हुए कहा कि देश में मंदी नहीं है। कानून मंत्री ने अपने दावे के समर्थन में ईपीएफ के आंकड़े भी गिनाए। उन्होंने किसानों की आत्महत्या के मसले को लेकर पूछे जाने पर कहा कि हमारे द्वारा कारणों की पहचान की जा रही है। हालांकि उन्होंने शिवसेना के घोषणा पत्र पर कुछ भी नहीं बोला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here