Budget 2019: आम करदाता को कोई राहत नहीं, अमीरों पर अतिरिक्त बोझ

0
44
budget

नई दिल्ली: मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट में सरकार ने आम करदाताओं को कोई राहत नहीं दी है। इसके अलावा सरकार ने महिलाओं, किसानों, छोटे दुकानदारों, रेलवे, शिक्षा और देश के विकास को लेकर भी कई बड़े ऐलान किए है। बजट में अमीर करदाताओं पर अतिरिक्त बोझ पड़ा है।

बजट में सरकार ने 2 करोड़ तक की आय में आयकर स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया है। 2 से 5 करोड़ की आय पर तीन फीसदी अतिरिक्त टैक्स बढ़ा दिया है, वहीं 5 करोड़ से ज्यादा की आय पर 7 फीसदी अतिरिक्त टैक्स देना होगा। इसके अलावा 400 करोड़ रुपये के राजस्व वाली कंपनियों को 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स। देना होगा।

हालांकि बजट में मिडिल क्लास को कोई राहत नहीं मिली है। पांच लाख तक की आय पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। गौरतलब है कि एक फरवरी को बजट पेश करते हुए मोदी सरकार ने पांच लाख तक की आय वालों को टैक्स के झंझट से मुक्त कर दिया था, जिसे आम आदमी के लिए बड़ी राहत माना जा रहा था। अब इस बजट में आम आदमी का हाथ खाली रह गया है।

वित्त मंत्री ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अब PAN की जगह आधार कार्ड से भी टैक्स का भुगतान किया जा सकेगा। खाते से साल में एक करोड़ से ज्यादा निकासी पर दी फीसदी टीडीएस देना होगा। इसके अलावा सरकार ने घर खरीदने वालों को भी राहत दी है। अब हाउसिंग लोन में 3.5 लाख रुपये की छूट मिलेगी। साथ ही 45 लाख का घर खरीदने पर 1.5 लाख तक की छूट मिलेगी। घर बेचकर स्टार्ट अप में निवेश पर टैक्स में छूट मिलेगी। स्टार्ट अप के लिए आयकर विभाग की जांच नहीं होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here