Breaking News

इस लोकसभा चुनाव में भाजपा ने रचा इतिहास, देखती रह गई कांग्रेस | Lok Sabha Election 2019: BJP has created History

Posted on: 25 Apr 2019 08:27 by Pawan Yadav
इस लोकसभा चुनाव में भाजपा ने रचा इतिहास, देखती रह गई कांग्रेस | Lok Sabha Election 2019: BJP has created History

लोकसभा चुनाव के तहत अब तक तीन चरण में लिए मतदान हो चुका है, जबकि चार चरण बाकी है। इसी बीच देश की सबसे बड़ी पार्टी बनी भाजपा ने इस बार के लोकसभा चुनाव में इतिहास रच दिया है। भाजपा ने 543 सीट वाली लोकसभा के लिए अब तक 437 प्रत्याशियों के नाम घोषित किए हैं। भाजपा ने अपने इतिहास में इस बार सबसे ज्यादा उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं, जबकि कांग्रेस ने करीब 422 उम्मीदवारों के नाम का ऐलान किया है। भाजपा ने 2014 में 427 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से वह 282 सीटें जीती थी, जबकि कांग्रेस ने 450 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे, लेकिन 44 सीटें ही जीत पाई थी।

राजनीतिक पर्यवेक्षक के मुताबिक 2014 के चुनाव के बाद भाजपा ने देशभर में पार्टी का विस्तार किया है। इसी के चलते वह कांग्रेस के मुकाबले ज्यादों सीटों पर चुनाव लड़ रही है। इधर, कांग्रेस के बाद करें तो 2014 के मुकाबले कम सीट पर चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस ने 2014 में कर्नाटक में सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ा था, किंतु इस बार वह जद (एस) के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ रही है। वहीं में भी पार्टी ने गठबंधन किया है। वहीं 2014 में आम आदमी पार्टी ने 432 सीटों पर चुनाव लड़ा था, मगर 4 सीट ही जीत पाई थी, जबकि बसपा ने सबसे अधिक 503 लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान किया था, पर एक सीट पर भी सफलता हाथ नहीं लगी थी। लेकिन उसका एक भी उम्मीदवार नहीं जीत सका था।

Read More : बाबा रामदेव ने किया प्रज्ञा ठाकुर का बचाव, कहा – संदेह के आधार पर जेल में अमानवीय बर्ताव करना ठीक नहीं

पहले काल भैरव किए दर्शन, फिर पीएम मोदी ने जमा किया नामांकन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी लोकसभा सीट से नामांकन भरने से पहले काल भैरव मंदिर पहुंचे। जहां उन्होंने बाबा काल भैरव के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। इस दौरान उनके साथ यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय मौजूद थे।  काल भैरव में पूजा-अर्चना करने के बाद पीएम मोदी का काफिला नामांकन भरने के लिए रवाना हो गया। कचहरी पहुंचकर पीएम मोदी शुभ मुहूर्त में अपना नामांकन दााखिल किया। वाराणसी में बाबा काल भैरव को कोतवाल कहा जाता है, जिन से पीएम मोदी अनुमति लेकर अपना नामांकन दााखिल किया। बताया जाता है कि शहर में कोई भी शुभ काम करने से पहले काल भैरव से अनुमति लेनी होती है। इस दौरान हजारों समर्थक मोदी-मोदी के नारे लगा रहे थे, तो कई लोग मोदी की झलक पाने के लिए आतुर दिखाई दिए।

Read More : झारखंड : नक्सलियों ने बम से उड़ाया भाजपा कार्यालय

बताया जा रहा है कि पीएम मोदी जब नामांकन दाखिल करने पहुंचे तो उनके प्रस्तावकों में एक चौकीदार भी शामिल हुआ। उनके नामांकन में इस बार डोमराजा के परिवार से जगदीश, पटेल धर्मशाला के रामशंकर पटेल, पाणिनि कन्या महाविद्यालय की प्रिंसिपल नंदिता शास्त्री और कोई एक चौकीदार हो सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नामांकन दाखिल करने के लिए कचहरी पहुंचे। नामांकन दाखिल करने के मौके पर पीएम मोदी के साथ नीतीश कुमार, रामविलास पासवान, प्रकाश सिंह बादल, अमित शाह, केंद्रीय राजनाथसिंह, नीतिन गडकरी, अनुप्रिया पटेल, उद्धव ठाकरे, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ सहित अन्य नेता उपस्थित थे।

Read More : ‘कब्र‘ वाले बयान पर घिरे गिरिराज सिंह, बढ़ी भाजपा की मुश्किल

नामांकन भरने से पहले पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि रोड शो के दौरान जो दृश्य मैं देख रहा था, उसमें आपके पसीने की महक आ रही थी। मैं भी बूथ का कार्यकर्ता रहा हूं, मुझे भी दीवारों पर पोस्टर लगाने का सौभाग्य मिला है। उन्होंने कहा कि आज देश में लोग खुद कह रहे हैं कि फिर एक बार मोदी सरकार। इस बार पॉलिटकल पंडितों को काफी माथापच्ची करनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि जनता मन बना चुकी है, ये इतिहास में पहला मौका है जब इस तरह का चुनाव लड़ा जा रहा है।

इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं पिछले डेढ़ महीने से देश का भ्रमण कर रहा हूं। मैं-अमित शाह-योगी सब कार्यकर्ता निमित हैं। इस बार चुनाव देश की जनता ही लड़ रही है। पहली बार लोगों ने देखा कि सरकार चलती भी है। पीएम ने कहा कि मैंने कभी ऐसा नहीं कहा कि अब मैं पीएम, पार्टी को समय नहीं दे पाऊंगा। उन्होंने कहा कि 5 साल में एक कार्यकर्ता के नाते पार्टी ने जितना भी समय मांगा तो मैंने मना नहीं किया। कार्यसमिति की बैठक में भी मैं बतौर कार्यकर्ता पूरा समय बैठा। उन्होंने कहा कि मैं पीएम, सांसद और कार्यकर्ता के नेता पांचों साल सजग रहा। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम एक ग्वाले की तरह हैं, जो भारत माता की सेवा कर रहे हैं। पीएम बोले कि ये चुनाव सिर्फ मोदी नहीं लड़ रहा है, बल्कि ग्वाले लड़ रहे हैं।

Read More : दिग्विजय सिंह को आतंकी कहने पर प्रज्ञा की बढ़ सकतीं हैं मुश्किलें, चुनाव आयोग की सख्ती का डर

सभा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें तय करना चाहिए कि अगर हमारे पोलिंग बूथ में 100 वोट पड़ते हैं, तो 105 माताओं-बहनों के पड़े। दूसरा जो इस बार पहली बार वोट दे रहा है, उनकी लिस्ट बनाइए, उन सबको बुलाइए। उन्होंने कहा कि वाराणसी में कहा कि मोदी हारे या जीते वो गंगा मैया देख लेगी, किंतु मेरे बूथ का कार्यकर्ता नहीं हारना चाहिए। हमारा लक्ष्य पोलिंग बूथ जीतना होना चाहिए। उन्होंने कहा कि कल के रोड शो के बाद मुझे लोग डांट रहे थे। श्रीलंका की घटना के बाद लोग मेरे लिए चिंतित थे, पर इस देश की करोड़ों माता-बहनें मोदी की सुरक्षी करती हैं।

इस दौरान उन्होंने कहा कि एक-एक वोट बहुत महत्वपूर्ण होता है। भाजपा के कार्यकर्ता के नाते बनारस वालों की कठिनाई बहुत है, क्योंकि और जगह तो सबका उम्मीदवार साथ चलकर प्रचार करता है, किंतु आप इतने काम नसीब हैं कि आपका उम्मीदवार तो पर्चा भरकर ही यहां से चला जाएगा। मेरा कहना है कि मोदी जीते न जीते, लोकतंत्र जीतना चाहिए। उन्होंने कहा कि जनता ने सरकार चुनने का मन बना लिया है. इतिहास का ये पहला मौका है कि इस तरह का चुनाव हो रहा है। जनता हमें जैसा प्यार दे रही है उसका हर पल आभार जताना होगा। कार्यकर्ता का परिश्रम और लोगों का प्रेम, ऐसा कल का अद्भुत अनुभव था।

Read More : सज्जन सिंह वर्मा के बिगड़े बोल, कहा – ‘मोदी चुनाव आयोग को जेब में रखकर चलते हैं’

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com