Metoo: आरोपियों के सपोर्ट में बोले अजय देवगन, “आरोपी और दोषी में फर्क होता है”

0
18

पिछले साल मीटू मूवमेंट की वजह से बॉलीवुड में काफी बवाल मच गया था. जिसके चलते बॉलीवुड के कई बड़े सितारों के नाम भी सामने आए थे. पिछले दिनों बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन की फिल्म दे दे प्यार दे में मीटू के आरोप में घिरे आलोकनाथ के फिल्म करने पर अजय देवगन खूब ट्रोल हुए थे. उस दौरान अजय देवगन ने कहा था कि फिल्म मीटू विवाद से काफी पहले ही शूट हो गई थी. अब फिल्मफेयर से एक बातचीत में अजय देवगन ने मीटू मूवमेंट पर बयान दिया है.

बता दें कि, अजय देवगन के इस बयान से काफी विवाद हो सकता है. दरअसल, अजय देवगन के कहने का मतलब यह है कि जिसके यौन उत्पीड़न जैसे आरोप हैं उनके साथ तब तक काम काम किया जा सकता है जब तक कि संबंधित मामले में वो दोषी न करार दे दिए जाए.

बता दें कि, जब मीटू मूवमेंट बॉलीवुड इंडस्ट्री में शुरू हुआ था, तब अजय देवगन भी इसके सपोर्ट में खड़े हो गए थे. उस समय अजय देवगन ने ट्वीट कर लिखा था कि ”#MeToo के तहत जो भी सुनने को मिल रहा है उससे वे परेशान हैं. वे महिलाओं की सुरक्षा में यकीन करते हैं. अगर किसी ने महिला के साथ गलत हरकत की है तो उस शख्स के साथ ना ही मैं और ADF (अजय देवगन फिल्मस) खड़ा होगा.”

लेकिन बाद में फिल्म दे दे प्यार दे में आलोकनाथ के साथ काम करने पर अजय देवगन काफी ट्रोल हुए थे. उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स का काफी सामना करना पड़ा था. जिसके चलते तनुश्री दत्ता ने खुद अजय देवगन को पाखंडी बताया था. काफी ट्रोल होने के बाद अजय ने सफाई देते हुए कहा था कि, “ये फिल्म आलोकनाथ पर मीटू का आरोप लगने से पहले शूट हो गई थी.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here