Breaking News

मोदीजी के हृदय में भी गरीबी, असमानता के खिलाफ ज्वाला जल रही है: रमेश मेंदोला | Poverty, Inequality in the heart of Modiji: Ramesh Mandola

Posted on: 16 Apr 2019 17:02 by Surbhi Bhawsar
मोदीजी के हृदय में भी गरीबी, असमानता के खिलाफ ज्वाला जल रही है: रमेश मेंदोला | Poverty, Inequality in the heart of Modiji: Ramesh Mandola

आज शाम मनपसंद क्लब में संस्था ज्वाला की महिला सदस्यों का सम्मान कार्यक्रम भाजपा के प्रदेश प्रशिक्षण प्रभारी अरविंद कवठेकर, संभागीय संगठन मंत्री जयपालसिंह चावड़ा, भाजपा नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, लोकसभा प्रभारी व विधायक रमेश मेंदोला, प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा, संभागीय मीडिया प्रभारी आलोक दुबे, संस्था ज्वाला की संयोजिका दिव्या गुप्ता की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।

कवठेकर ने कहा कि आत्मनिर्भर बनाना ही सबसे बड़ा कार्य है, यदि आप जीवन मे किसी भी एक व्यक्ति को सद्मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते है जिससे उसके जीवन मे एक बदलाव आता है, ओर वह आत्मनिर्भर हो कर दूसरों को प्रेरित करने का काम करता है, वास्तव में यही मानव जीवन में सच्ची सेवा है, संस्था ज्वाला भी ऐसे ही कार्य कर महिलाओं के जीवन को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काम कर रही है, जो सराहनीय है, मोदी जी ने भी महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का काम किया है।

जयपाल सिंह चावड़ा ने कहा कि बहुत सी संस्थाएं महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने का काम कर रही है, लेकिन संस्था ज्वाला आत्मनिर्भर बनाने के साथ साथ रोजगार से जोड़ने का काम कर रही है, संस्था ज्वाला ने महिलाओं को संगठन के प्रति समर्पण भाव से काम करना सिखाया है। महिलाओ के लिए कार्य कर रहे अन्य संगठनों को सीखना चाहिए।

रमेश मेंदोला ने कहा कि पहले देश मे प्रधानमंत्री का परिवार, उनके बेटा- बेटी ही प्रधानमंत्री बन पाते थे, लेकिन आपके वोट की ताकत है, कि गरीबी में पले, चाय बेचने वाला व्यक्ति आज प्रधानमंत्री है, उन्होंने गरीबी को देखा है, इसलिए उन्होंने गरीबी और सामाजिक समानता को दूर करने के लिए योजना बनाई है। आज आपके मन मे विकट परिस्तिथियों से लड़ने की ज्वाला जो दिव्या दीदी ने जलाई है, वही ज्वाला मोदी जी के हृदय में भी जल रही है, मोदी जी के हृदय में भी गरीबी, असमानता, भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए एक ज्वाला जल रही है, इसलिए उन्होंने मुदा लोन स्किम, जनधन खाता योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसी महत्वकांशी योजनाए बनाई है। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए स्वयं सहायता समूह के माध्यम से सशक्त बनाने का काम किया है।

गोपीकृष्ण नेमा ने कहा कि संस्था ज्वाला आपको अबला से सबला बना रही, संस्था आपको सुरक्षा, स्वास्थ्य और स्व प्रेरित रोजगार का हुनर सीखा रही है साथ ही रोजगार से जोड़ रही है। वर्तमान में कोई भी चीज़ दुनिया मे बेकार नहीं होती बस उसका उपयोग करना सीखना होता है, हम छोटी छोटी अनुपयोगी चीज़ों से उपयोगी चीज़े बना सकती है। संस्था आपको ऐसे ही प्रयासों से जोड़ रही है।

उमेश शर्मा ने कहा कि आप सब साधारण परिवार से है, लेकिन आप सबका काम बहुत असाधारण है। दिव्या दीदी आप सबको अपने पैरों पर खड़ा करने का काम कर रही है। कभी कभी पारिवारिक स्तिथिया ऐसी होती है, कि रास्ता खुद निकालना पड़ता है, हम स्वाभिमान और ईमानदारी से काम कर रहे है, इसलिए समाज को प्रेरित करते हुए समाजिक सुधारो से जोड़ने का काम करना चाहिए।

कार्यक्रम में संस्था ज्वाला में काम करने वाली सदस्य जुलेखा बी, पूजा आर्या, रत्ना बड़वाया, मीना लोथवाल, प्रिया लोथवाल, कीर्ति वर्मा, बेबी खान, रत्ना ऊँटवाल, सुनीता आदि का सम्मान अतिथियों ने किया।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com