भारत में लगातार बारिश का कहर बना हुआ है। वही एक बार फिर आज शाम से पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव होने जा रहा है। इससे देश के अधिकांश राज्यों में बारिश हो सकती है। इसी के साथ साथ कुछ इलाकों में कोहरा और बर्फबारी की संभावना भी बन रही है।

मौसम विभाग के अनुसार, 29 और 30 दिसंबर को हिमालय के ऊपरी इलाकों में बर्फबारी हो सकती है। वही वेस्टर्न डिस्टरबेंस से पंजाब में भी बारिश की संभावना और मैदानी इलाकों के अधिकतम और न्यूनतम पारे में वृद्धि होगी।

नए साल पर यहां बढ़ेगी लोगों की मुश्किलें

पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से पठानकोट, गुरदासपुर, तरनतारन में हल्की वर्षा हो सकती है। इसके जाते ही जनवरी से कई राज्यों में भी कंपाने वाली ठंड पड़ने की उम्मीद है। नए साल तक पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और दिल्ली में घना कोहरा छाया रह सकता है। जिससे लोगो को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों में गुरुवार (29 दिसंबर) और शुक्रवार (30 दिसंबर) को रुक-रुक कर बर्फबारी होने की संभावना जताई गई है।

दिल्ली समेत कई राज्यों में कोहरे-शीतलहर

मौसम विभाग की मानें तो आज 29 दिसंबर को पंजाब के कुछ हिस्सों में शीतलहर, 1- 2 जनवरी को पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तरी राजस्थान में अलग-अलग हिस्सों में शीतलहर के साथ 31 दिसंबर को चंडीगढ़ में हल्की बारिश की संभवाना है। इस दौरान हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान में घना कोहरा छाया रहेगा। शीतलहर और कोहरे का कहर बढ़ जाएगा और अगले तीन चार दिनों तक दिल्ली समेत कई राज्यों में ठंड का कहर देखने को मिलेगा।

ऐसा रहेगा नए साल में मौसम

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, पंजाब और हरियाणा में 31 दिसंबर के बाद शीत लहर का दूसरा दौर शुरू होगा। 3 दिसंबर तक पंजाब में शीतलहर और धुंध का असर दिखाई देगा। 2 जनवरी तक उत्तर प्रदेश के 31 जिलों में घने कोहरे की चेतावनी जारी की है। वहीं, जम्मू और कश्मीर में गुरूवार और शुक्रवार को कुछ स्थानों पर रुक-रुक कर हल्की से मध्यम बर्फबारी की संभावना है। उत्तराखंड में अगले पांच दिन तक मैदानी क्षेत्रों में घने कोहरे के साथ शीत दिवस-शीतलहर और पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम वर्षा व बर्फबारी की स्थिति बनेगी।