सर्वे : ज्यादा पैसे होंगे तो वापस मिल जाएगा खोया पर्स

ज्यूरिख की एक यूनिवर्सिटी के तेरह प्रोफेसरों की टीम ने चालीस देशों के 355 शहरों में सर्वे कराया है |

0
100

नई दिल्ली। ज्यूरिख की एक यूनिवर्सिटी के तेरह प्रोफेसरों की टीम ने चालीस देशों के 355 शहरों में सर्वे कराया है | इसमें ये तथ्य सामने आया है की अगर आपके खोए पर्स में छह हजार रुपए या इससे ज्यादा हैं, तो आपको वापस मिल जाएगा। इससे कम पैसा होने पर पर्स उठाने वाला शख्स लापरवाह हो जाता है और वो उसके सही मालिक को पर्स लौटाने की जहमत नहीं उठाता है।इस सर्वे में भारत के मेट्रो शहरों को भी शामिल किया गया। सर्वे टीम ने होटल, पुलिस स्टेशन, बैंक, थिएटर, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, एयरपोर्ट सहित कई सार्वजनिक जगहों पर दौरे किए। वहां जान-बूझ कर अपना पर्स खोया।

72 फीसदी लोग लौटा देते हैं पर्स
ये बात सामने आई कि छह हजार रुपए से ज्यादा पैसा हो, तो करीब 72 फीसदी लोग पर्स लौटा देते हैं। इनमें से करीब 35 फीसदी ऐसे हैं, जो बदलते वक्त में खुद को ईमानदार साबित करके पर्स मालिक की नजर में हीरो बनना चाहते हैं। 18 फीसदी ऐसे हैं, जो शर्म के कारण पर्स लौटा देते हैं। 11 फीसदी ऐसे हैं, जो असल में ईमानदार हैं। किसी और की चीज नहीं लेना चाहते हैं। आठ फीसदी ऐसे हैं, जिन पर सोशल मीडिया, अखबार, टीवी चैनल और विज्ञापनों में सिखाए जाने वाले अच्छे पाठ का असर है। वो खुद को अच्छा इंसान बनाना चाहते हैं। बाकी के लोग यह मानते हैं कि जब कोई चीज सड़क पर मिली है, तो वह उनकी ही है, फिर चाहे उसमें कितना ही पैसा हो।

तीन साल और लाखों रूपए खर्च
इस सर्वे की अगुवाई करने वाले प्रो. मिचेल मार्शल ने बताया कि इस नतीजे पर पहुंचने में हमें तीन साल लगे हैं। लाखों रुपए का खर्च भी आया है। साइकॉलॉजी को समझने और उसे छात्रों तक पहुंचाने के मकसद से हमने यह सर्वे कराया था। लोगों के पर्स लौटाने या नहीं लौटाने के पीछे पुरानी आदत से ज्यादा उस मौके का मनोविज्ञान असर करता है। अगर इंसान खुश है, तो वो भलाई करना चाहता है, लेकिन अगर वो खोया हुआ है, तो सब चीजों को टाल देता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here