यदि आप भी रखते है घर में फटे-पुराने कपड़ों की पोटली, तो हो सकता है कुछ बूरा

0
99

अक्सर हम हमारे पूराने और फटे हुए कपड़ो को घर में इकट्ठा कर के रख लेते है। उस समय तो हम इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं सोचते बस उन्हें निकाल कर इकट्ठा कर लेते है। लेकिन हमारी यह आदत हमे कितना नुकसान पहुंचाती है यह आपको शायद ही मालूम हो। वास्तुशास्त्र में ऐसा करने की मनाही है। वास्तुशास्त्र के अनुसार इन सभी को नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण करने में सहायक माना जाता है।

लोग घरों की अलमारी या दीवान में फटे-पुराने कपड़ों की एक पोटली बनाकर रख लेते है। हालांकि कुछ लोग जो कपड़े अनुपयोगी हो गए हैं उनको कबर्ड या अलमारी के निचले हिस्से में रख छोड़ते हैं। वास्तु के अनुसार किसी भी अनुउपयोगी वस्तु को घर में रखें रखने से दरिद्रता घर में आती है, साथ ही पैसों की तंगी का असर भी देखने को मिलता है।

फटे-पुराने कपड़ों या चादरों से भी घर में नकारात्मक मानसिकता और ऊर्जा का निर्माण होता है। इस तरह के वस्त्रों को किसी को दान कर देना चाहिए या इसका किसी और काम में उपयोग करना चाहिए। इसके अलाव वास्तु शास्त्र में यह भी कहा गया है कि किसी भी तरिके फटे कपड़ों को कभी नहीं पहनना चाहिए। यहां तक की टावेल भी आपका कहीं से फटा या पुराना नहीं होना चाहिए। यह सब चीजे घर में निर्धनता को न्योता देती है, और व्यक्ति को गरीब बना देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here