इंदौर नंदानगर के राजा के पंडाल में कोई मोदी बनकर पहुंचा तो कोई शिव का रूप धरकर, दर्शन के लिए लग रही भक्तो की भीड़

गणेश उत्सव की धूम पुरे देश में मची हुई है तो इंदौर कैसे पीछे रह सकता है  गोल स्कूल परिसर  में विराजे नंदानगर के राजा  के दरबार में हर दिन भीड़ बढ़ते जा रही है।

गणेश उत्सव की धूम पुरे देश में मची हुई है तो इंदौर कैसे पीछे रह सकता है  गोल स्कूल परिसर  में विराजे नंदानगर के राजा  के दरबार में हर दिन भीड़ बढ़ते जा रही है। कोरोना काल  के पहले जिस तरह यहां भीड़ उमड़ती थी, उससे इस बार कहीं अधिक श्रद्धालु आकर नंदानगर के राजा के दर्शन कर रहे हैं। हर साल की तरह होने वाली फैेंसी ड्रेस प्रतियोगिता  में भी बच्चे हर दिन अलग-अलग रूप धरकर आ रहे हैं।

संस्था प्रयास द्वारा पिछले दो साल से कोरोना काल के कारण बड़ा आयोजन नहीं किया गया था। केवल प्रतीकात्मक रूप से यहां गणेशजी की प्रतिमा विराजित कर आरती की जाती थी, लेकिन कोरोना निपटने के बाद इस साल दुगुने जोश से यह आयोजन किया जा रहा है। हर दिन होने वाली महाआरती में मानो पूरा श्रमिक क्षेत्र ही उमड़ रहा है। गणेश उत्सव के दूसरे दिन कल बच्चों की फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में बच्चे अलग-अलग रूप धरकर पहुंचे। कोई मोदी बनकर पहुंचा तो कोई शिवशंकर की वेशभूषा में। अधिकांश बालिकाएं मां अहिल्या और वीरांगनाओं की वेशभूषा में आई थीं।

आयोजक विधायक रमेश मेंदोला ने बताया कि इस बार काशी विश्वनाथ मंदिर की प्रतिकृति में गणेशजी की स्थापना की गई है, जिसके दर्शन के लिए रोज हजारों लोग उमड़ रहे हैं। बंगाली कलाकारों द्वारा पूरा पंडाल आकर्षक बनाया गया है। कल हुई महाआरती में सभापति मुन्नालाल यादव, एमआईसी सदस्य राजेंद्र राठौर, जीतू यादव, सूरज रजक ने व्यासपीठ का पूजन-अर्चन किया। महाआरती के बाद ही महाराज विवेक आनंद के मुखारविंद से भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है, जिसे सुनने के लिए देर रात तक श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा रहता है।