Breaking News

Icici बैंक की चंदा कोचर को भी तो गिरफ्तार करो, गिरीश मालवीय की कलम से….

Posted on: 21 Jun 2018 16:56 by krishnpal rathore
Icici बैंक की चंदा कोचर को भी तो गिरफ्तार करो, गिरीश मालवीय की कलम से….

बैंक ऑफ महाराष्ट्र के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ रविन्द्र मराठे को गिरफ्तार कर लिया गया आर्थिक अपराध शाखा का आरोप है कि बैंक के गिरफ्तार किए गए अधिकारियों की मिलीभगत कर्ज लेने वाली कंपनी के साथ थी जिसके चलते एक बिल्डर को 3000 करोड़ जैसी बड़ी रकम बतौर कर्ज आसानी से दे दी गईबैंक ऑफ महाराष्ट्र एक सरकारी बैंक है तो अधिकारियों की आसानी से सीएमडी पर हाथ डालने की हिम्मत पड़ गयी लेकिन इस से ही मिलते जुलते केस में आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ चन्दा कोचर आज भी अपने पद पर बनी हुई है उस पर भी 2012 में वीडियोकॉन जैसी कम्पनी को 3250 करोड़ रुपये का लोन देने का आरोप है

via

इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी ख़बर मे इस घोटाले का पूरा कच्चा चिट्ठा छापा ओर बताया कि किस तरह से उनके पति और जेठ के संबंध वीडियोकॉन से रहे हैं कुल मिलाकर 20 बैंको के कंसोर्टियम ने वीडियोकॉन को 40 हजार करोड़ का लोन दिया था जो आज पूरी तरह से डूब गया हैआईसीआईसीआई बैंक की बेशर्मी का आप अंदाजा लगाइए कि जब इंडियन एक्सप्रेस समूह ने आईसीआईसीआई बैंक से इस घटना के सम्बंध में उनका पक्ष जानने के लिए ईमेल किया तो इसके अगले दिन बैंक ने अपना बयान जारी किया.”बैंक का बोर्ड इस निष्कर्ष पर पहुंचा है कि किसी तरह का क्विड प्रो, नेपोटिज़्म और कॉन्फ्लिक्ट ऑफ़ इंटरेस्ट का मामला होने का सवाल ही नहीं उठता और बैंक बोर्ड को अपनी प्रबंध निदेशक और सीईओ चंदा कोचर पर पूरा भरोसा है.”

via

चूँकि आईसीआईसीआई एक विदेशी बैंक है ओर जब यह खबर अमेरिका तक पुहच गयी तो बढ़ते अंतराष्ट्रीय दबाव के कारण बैंक बोर्ड को चन्दा कोचर को लम्बी छुट्टी पर भेजने के लिए मजबूर होना पड़ाअब यह झूठ फैलाया जा रहा है कि आईसीआईसीआई बैंक ने चन्दा कोचर को अपने पद से हटा दिया है जबकि असलियत यह है कि चन्दा कोचर आज भी अपने पद पर बनी हुई है और बैंक ने चीफ़ ऑपरेटिंग ऑफिसर नाम का एक नया पद सृजित किया है जिस पर संदीप बख्शी की पांच सालों की नियुक्ति की गयी है

via

मतलब साफ है इस देश मे बैंक ऑफ महाराष्ट्र के सीएमडी को गिरफ्तार किया जा सकता है, यूको बैंक के सीएमडी पर कार्यवाही हो सकती है , सिंडिकेट बैंक के सीएमडी को जेल भेजा जा सकता हैं लेकिन आईसीआईसीआई बैंक की चन्दा कोचर को बेदाग़ बरी किया जाता है क्योंकि उसके सम्बन्ध सत्ताधारी दल के मित्र पूंजीपतियों से बहुत घनिष्ठ है

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com