Breaking News

ICICI बैंक ने ‘ईजीपे‘ पर 1.93 लाख से अधिक व्यापारियों का किया पंजीयन, नेक्स्ट जनरेशन फीचर्स भी लॉन्च

Posted on: 14 Dec 2018 12:15 by Ravindra Singh Rana
ICICI बैंक ने ‘ईजीपे‘ पर 1.93 लाख से अधिक व्यापारियों का किया पंजीयन, नेक्स्ट जनरेशन फीचर्स भी लॉन्च

देहरादूनः आईसीआईसीआई बैंक ने देश के पहले डिजिटल पॉइंट-ऑफ-सेल (पीओएस) ‘ईजी पे’ में कुछ और नयी सेवाओं को जोड़कर उसे और बेहतर बनाया है। विमुद्रीकरण (डीमोनेटाईजेशन) के दौरान कारोबारियों और प्रोफेशनल्स को विभिन्न स्रोत जैसे यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई), डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, अन्य बैंकों की इन्टरनेट बैंकिंग, आधार पे, भारत क्यूआर कोड, ‘पॉकेट्सबाई आईसीआईसीआई बैंक’ डिजिटल वॉलेट से पेमेंट प्राप्त करने के लिहाज से ईजी पे को लॉन्च किया गया था। उसके बाद से इसका तेजी से विस्तार करते हुए 1.93 लाख से अधिक ग्राहक जोड़े गए हैं और अब देश भर में बैंक के 7 लाख से अधिक फिजिकल और डिजिटल पीओएस हो गए हैं।

इस एप्लीकेशन में कुछ और नयी सेवाओं को जोड़ा गया है जो देश में अन्य कोई बैंक नहीं प्रदान कर रहा है। इसकी मदद से मर्चेंट्स/रिटेलर्स बिना बैंक गए और बिना किसी कागजी कार्रवाई के कार्ड स्वाइप मशीन के लिए आवेदन कर सकते हैं। मर्चेंट्स/रिटेलर्स बारकोड के जरिए इनवॉइस बना सकते हैं। इन बिल्ट डैशबोर्ड की मदद से वो सामान की आवाजाही और सेल्स ट्रेंड्स पर नजर रख सकते हैं और उधार माल ले सकते हैं, बारकोड के जरिए इनवॉइस (बिल) बना सकते हैं। इसके अलावा, मझोले और बड़े रिटेलर्स के कर्मचारी स्टोर में विभिन्न काउंटरों पर खड़े रहकर अपने मोबाइल में ग्राहक से भुगतान प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा इसे अन्य शहरों में एक स्टोर की ब्रांच के तौर पर भी ऑनलाइन डिलीवरी के लिए इस्तेमाल किया जा सकेगा। मध्यम से बडे पैमाने पर कार्य संचालन करने वाले रिटेलर्स के कर्मचारी अब इस ऐप को एक साथ इस्तेमाल कर सकेंगे और इस तरह वे स्टोर में विभिन्न काउंटर्स पर भी भुगतान हासिल कर सकेंगे। इसका इस्तेमाल अन्य शहरों में अपनी शाखाओं के साथ-साथ होम डिलीवरी के लिए भी किया जा सकता है।

ऐप की विशेषताओं के बारे में बताते हुए आईसीआईसीआई बैंक के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर श्री अनूप बागची ने कहा, “आईसीआईसीआई बैंक ने प्रथम अन्वेषक के तौर पर भारतीय अर्थव्यवस्था को डिजिटल बनाने में कई डिजिटल पहल की हैं। इसी दिशा में, डिमोनेटाइजेशन के दौरान एक मोबाइल ऐप्लीकेशन के तौर पर एक डिजिटल पॉइंट-ऑफ-सेल यानी ईजीपे को जारी किया गया था। इस क्रांतिकारी पहल ने लाखों व्यापारियों, पेशेवरों को विभिन्न स्रोंतों से भुगतान प्राप्त करने का विकल्प दिया था। ईजी पे को हर वर्ग से उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया मिली है। किराना दुकानदार, केमिस्ट, रेस्टोरेंट मालिक, टूर एंड ट्रेवल्स ऑपरेटर्स, पेशेवरों सभी ने सराहा है। इसकी लोकप्रियता की वजह से कम समय में  1.93 लाख ग्राहक इस एंप के साथ जुड़े हैं और अब देश भर में बैंक के 7 लाख फिजिकल और डिजिटल पीओएस हो गए हैं। गहन रिसर्च के बाद ‘ऑल-न्यू-ईजीपे‘ में कई नए फीचर्स, जैसे बिना किसी कागजी कार्रवाई के कार्ड स्वाइप मशीन के लिए आवेदन करना, बारकोड के जरिए इनवॉइस बनाना आदि जोडे गए हैं। मुझे विश्वास है नए फीचर्स की वजह से इसको कई और सेग्मेंट्स इसके साथ जुड़ेंगे और यह सभी के लिए आसानी से पेमेंट प्राप्त करने का एक मजबूत विकल्प बनेगा। मेरा मानना है कि यह ऐप्लीकेशन बैंक के फिजिकल पीओएस की संख्या को भी पार कर जायेगा और इस तरह हम नकदी रहित अर्थव्यवस्था की दिशा में एक कदम और आगे बढने में सक्षम होंगे।”

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com