Breaking News

इस आईएएस अफसर का कद नहीं बोलता है काम

Posted on: 05 May 2018 07:01 by Surbhi Bhawsar
इस आईएएस अफसर का कद नहीं बोलता है काम

नई दिल्ली: आज आपको मिलवाते है साढ़े तीन फीट की आईएएस अफसर आरती डोगरे से। इनका कद भले ही छोटा हो लेकिन हौसले आसमान को छूने वाले है। जितना छोटा इनका कद है. उससे बड़ी इनके संघर्ष की दासतां है। इनकी कम हाइट को लेकर लोगों ने खूब ताने कसे। लेकिन आरती ने इसे अपनी तरक्की का फ्यूल बना डाला।Image may contain: one or more peopleआरती डोगरा राजस्थान कैडर के 2006 बैच आईएएस अधिकारी हैं। उन्हें राजस्थान के सबसे ईमानदार अधिकारियों में से एक माना जाता है। एक दशक से भी कम समय में फैले कैरियर में, उसने सभी को अपने काम और उपलब्धि के बारे में नोटिस करने के लिए मजबूर किया है। Image may contain: 7 people, people standing and crowdउनका छोटा कद कभी उनके करियर में बढ़ा नहीं बन सका। बीकानेर के कलेक्टर और जोधपुर डिस्को के प्रबंध निदेशक के रूप में उनका काम असाधारण रहा है। हाल ही में, उन्हें अजमेर के कलेक्टर के रूप में नियुक्त किया गया है।Image may contain: 7 people, table and outdoor

बनी अजमेर कलेक्टर-
3 मई 2018 को आरती डोगरा ने अजमेर जिला कलेक्टर का पदभार संभाला है इससे पहले वह जोधपुर डिस्कॉम के एमडी के पद भी तीन साल तक कार्यरत रही है बता दे कि डोगरा ने 4 मई 2015 को जोधपुर डिस्कॉम प्रबंध निदेशक का पदभार ग्रहण किया था। इस पद पर नियुक्त होने वाली वे पहली महिला आईएएस अधिकारी रही।Image may contain: 7 people, people smiling, people sitting and indoorकद को सफलता में नहीं बनने दिया बाधक-
देहरादून में जन्मी आरती डोगरा ने कभी अपने कद को अपनी सफलता के बीच नहीं आने दिया। आरती के जन्म के समय डॉक्टरों ने साफ कह दिया कि उनकी बच्ची सामान्य स्कूल में नहीं पढ़ पाएगी। लेकिन आरती बताती है कि उनके माता-पिता ने हमेशा उन्हें हौसला दिया।Image may contain: 6 people, people smiling, people standingमां से सिखा जिम्मेदारियों को निभाना-
हर बच्चे के लिए उसकी मां सुपर हीरो होती है, आरती के लिए भी उनकी मां ही उनकी सुपर हीरो रही है। आरती ने अपनी मां से ही जिम्मेदारियों को निभाना और अपने निर्णय लेने सीखे। दरअसल, आरती की मां कुमकुम डोगरा स्कूल प्राचार्य रही हैImage may contain: 5 people, people smiling, people standingआरती बताती है कि एक वर्किंग वुमन होने के बाद भी मां अच्छे से घर संभालती थी। इसके बावजूद मां हमेशा सामान्य रहतीं, जिससे कोई परेशानी बच्चों तक न पहुंचे। उन्होंने कहा कि आज अपने काम में स्ट्रेस महसूस करने पर वे मां की इसी सीख को याद कर परिस्थितियों से निपटती हैं।Image may contain: 9 people, people smiling, people standing and outdoor

पिता से सिखा धैर्य रखना-
आईएएस आरती डोगरा के पिता कर्नल राजेन्द्र डोगरा भारतीय सेना में अफसर रहे हैं। बॉर्डर पर विपरीत हालात में रहने के बाद भी कभी उन्होंने अपना धैर्य नहीं खोया। आरती कहती हैं कि हिम्मत न हारने का जज्बा उन्होंने पिता से ही सीखा है।Image may contain: 4 people, people smiling, people standing and outdoorउन्होंने आरती को सिखाया कि जीवन में कुछ भी मुश्किल नहीं है। जो भी समस्या है उसे पहाड़ न बनाएं, समय लगेगा लेकिन अंतत: आप उससे खुद को बाहर निकाल लोगे। उनका मानना है कि बेटियां आर्थिक रूप से सक्षम बनें।Image may contain: 7 people, people smiling

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com