भारतीय वायुसेना का लड़ाकू विमान हादसे का शिकार, गिरा फ्यूल टैंक

0
45

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान लगातार हादसे का शिकार हो रहे हैं। पिछले दिनों वायुसेना के विमान से पक्षी टकरा गया था। पक्षी के टकराने के बाद विमान से फ्यूल टैंक और बम नीचे गिरे दिए गए थे, जिसकी वजह से चारों धुंआ ही धुंआ हो गया था।

इसी बीच मंगलवार को तमिलनाडु में भारतीय वायुसेना के लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस का ईंधन टैंक सुलुर एयरबेस के नजदीक खेतों में गिर गया है। यह घटना उड़ान के दौरान घटित हुई।

वायुसेना ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। गौरतलब है कि भायतीय वायुसेना के अब तक कई विमानों के साथ हादसा हो चुका है। इसमें कई पायलट जान भी गंवा चुके हैं।

जगुआर लड़ाकू विमान से टकराया गया था पक्षी

इससे पहले भारतीय वायुसेना का जगुआर लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बच गया। अंबाला में उड़ान भर रहे जगुआर लड़ाकू विमान के इंजन से पक्षी टकरा गया था। इससे इंजन ठप हो गया। हादसे बचने के लिए पायलट ने विमान के फ्यूल टैंकों को नीचे गिरा दिया। इस दौरान स्मॉल प्रैक्टिस के लिए इस्तेमाल होने वाले कुछ बमों को भी पायलट ने नीचे गिरा दिया। जगुआर से गिरे फ्यूल टैंक और छोटे बम गिरने से इलाके में आग लग गई थी।

हालांकि आग पर काबू पा लिया गया है। बताया जा रहा है कि हादसे का शिकार हुआ जगुआर लड़ाकू विमान से ये सब सामान रिहायशी इलाके में गिरे। इससे अंबाला एयरफोर्स स्टेशन के पास के इलाके में आग लग गई। घटना की सूचना पर एम्बुलेंस, दमकल, पुलिस और एयरफोर्स के उच्च अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे। हालांकि इस सब घटनाक्रम के बीच पायलट ने फ्यूल टैंक और छोटे बम नीचे दिए। इसके बाद अंबाला एयरबेस पर सकुशल विमान को उतार दिया। हालांकि नीचे आग और काले धुएं के गुबार के बाद हड़कंप मच गया। पुलिस और एयरफोर्स के आलाधिकारी मौके पर पहुंचकर जांच कर रहे हैं। साथ जगुआर विमान से नीचे गिराये गए स्मॉल प्रैक्टिस बमों को भी बरामद कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here