मुझे भाजपा के प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं: दिग्विजय सिंह | Digvijay Singh said-I do not need BJP’s certificate

0
42

राजेश राठौर

इंदौर। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैंने कोई बयान गलत नहीं दिया। नरेंद्र मोदी के खिलाफ कुछ भी बोलो या उनसे कोई सबूत मांगो तो आप देशद्रोही घोषित कर दिए जाते हो। सोशल मीडिया पर पैसे लेकर मोदी के पक्ष में माहौल बनाया जाता है।

मुझे भाजपा के प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है। आए दिन बयानों को लेकर विवादों में रहने वाले दिग्विजय सिंह से पूछा कि आपने पुलवामा हमले और एयर स्ट्राइक को लेकर जो बयान दिए उसको लेकर भाजपा लगातार आप पर हमला कर रही है तो कहने लगे मैं तो नरेंद्र मोदी और संघ के हमेशा टारगेट पर रहता हूं, लेकिन मैं इन से डरता नहीं हूं। मैं आखिरी समय तक इनके खिलाफ रहूंगा, क्योंकि यह लोग देश को तोड़ने में विश्वास रखते हैं। मैं महात्मा गांधी की राह पर चलने वाला हूं। हमेशा सबको जोड़ कर चलता हूं। पुलवामा हमले को लेकर खुफिया विभाग असफल हुआ। कितने अफसरों पर लापरवाही के कारण कार्रवाई हुई, क्या यह पूछना गलत है।

एयर स्ट्राइक के बाद मैंने कुछ नहीं बोला। अमित शाह व योगी आदित्यनाथ के बयान अलग-अलग आए तो मैंने यह पूछा कि विदेशी अखबारों में भारत के खिलाफ छपा है। मौत को लेकर अलग-अलग आंकड़े आ रहे हैं तो वास्तविकता क्या है। यह सरकार बता दे। क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोई सवाल करने का मतलब यह है कि जो भी उनसे कोई पूछेगा तो देशद्रोही हो जाएगा। हिंदू विरोधी हो जाएगा।

भाजपा वालों से मुझे प्रमाण पत्र नहीं चाहिए। मुझे लोग जानते हैं। दिक्कत यह है कि सोशल मीडिया पर काम करने वाले मोदी के पेड वर्कर है। वह हमारे बयानों को तोड़ मरोड़ कर आम जनता तक पहुंचाते हैं। और फुरसतिये लोग आगे बढ़ाते हैं। दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैं हमेशा कहता हूं कि कुछ मुस्लिम और कुछ हिंदू गड़बड़ करते हैं। दोनों पर कार्रवाई होना चाहिए। कश्मीर की जो समस्या है उस पर सरकार ध्यान नहीं देगी तो आतंकवाद पर कार्रवाई कैसे करेगी। कश्मीर में लगातार घटनाएं हो रही है। पता करना चाहिए कि उसका क्या कारण है मनमोहन सिंह सरकार में दस साल कश्मीर में शांति रही। उसके बाद मोदी सरकार ने सत्ता की भूख के कारण पीडीपी से गलत गठबंधन करके सरकार बनाई। दिग्विजयसिंह से पूछा कि आपकी लोकसभा चुनाव में क्या भूमिका रहेगी। तो वह कहने लगे कि पार्टी जहां प्रचार करने के लिए कहेगी। वहां मैं चला जाऊंगा। जहां से चुनाव लड़ने के लिए कहेगी वहां से मैं चुनाव लड़ूंगा। पार्टी का हर आदेश हमेशा से मानता रहा हूं। उनसे पूछा कि लोकसभा चुनाव के बाद यदि फिर मोदी सरकार बनी तो क्या कमलनाथ सर गिर जाएगी
। तो कहने लगे ऐसा नहीं है। केंद्र सरकार का कमलनाथ सरकार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। कमलनाथ सरकार किसानों के कर्ज माफ कर रही है बाकी काम भी सरकार लगातार कर रही है। चुनाव बाद काम में तेजी आएगी। दिग्विजय सिंह से पूछा कि की चुनाव में खास मुद्दे क्या होंगे। तो वह कहने लगे कि लोग नोट बंदी, जीएसटी और राफेल जैसे घोटालों को भूले नहीं है। मोदी सरकार इसीलिए सेना का इस्तेमाल चुनाव में करने की कोशिश कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here