वर्ष 2023 में श्रावण का महीना 4 जुलाई से शुरू होकर 31 अगस्त का चलेगा। कुल मिलाकर श्रावण के महीने में 59 दिन होंगे। 18 जुलाई से 16 अगस्त तक सावन अधिकमास रहेगा। जिसे मलमास भी कहा जाता है।

शीघ्र ही नए वर्ष का शुभारंभ होने वाला है। इस बार साल 2023 व्रत-त्योहार, पंचांग और ज्योतिषीय आंकड़ों के द्दष्टिकोण से बहुत अहम रहने वाला होगा। हिंदू कैलेंडर के मुताबिक इस बार वर्ष 2023, 12 महीने की जगह 13 महीनों का होगा। असल में अधिकमास के चलते इस वर्ष ऐसा मुमकिन है। इस साल शिव उपासना के लिए अत्यधिक पवित्र माह सावन का महीना 30 दिनों के जगह 59 दिनों का होगा।

Also Read – शव ले जाते वक्त क्यों कहा जाता हैं ‘राम नाम सत्य हैं’, जानें इसके पीछे की असली वजह

सावन का महीना अब दो माह तक रहेगा। जिसके चलते सावन के महीने में 8 सावन सोमवार व्रत रखें जाएंगे। इस प्रकार का संयोग 19 साल बाद दोबारा बनेगा जब सावन का महीना 59 दिनों का होगा। अधिकमास के चलते साल 2023 में आने वाले कई मुख्य व्रत और त्योहार 15 से 20 दिनों के लिए आगे बढ़ जाएंगे। वहीं अगर ज्योतिषीय रूप से देखें तो साल 2023 में शनि, गुरु और राहु-केतु जैसे प्रमुख ग्रहों का राशि बदलाव देखने को मिलेगा। जिसके साथ साल 2023 में शादी ब्याह के कुल मिलाकर 67 शुभ मुहूर्त होंगे। साल में दो-दो सूर्य और चंद्र ग्रहण भी पड़ेगा।

अधिकमास की गणना

वर्ष 2023 में सावन का माह 4 जुलाई से शुरू होकर 31 अगस्त तक चलेगा। कुल मिलाकर सावन के महीने में 59 दिन होंगे। 18 जुलाई से 16 अगस्त तक अधिकमास रहेगा। जिसे मलमास भी कहा जाता है।वास्तव में वैदिक पंचांग की गणना सौरमास और चंद्रमास के आधार पर होती है। एक चंद्रमास 354 दिनों का जबकि एक सौरमास 365 दिनों का होता है। इस प्रकार से इन दोनों में 11 दिन का अंतर आ जाता है और तीसरे वर्ष 33 दिनों का अतिरिक्त एक माह बन जाता है। इस 33 दिनों के सामंजस्य को ही अधिकमास कहा जाता है। अधिकमास को मलमास और पुरुषोत्तम मास भी कहते हैं।

वैदिक पंचांग के कैलकुलेशन के मुताबिक जिस महीने इन अतिरिक्त 33 दिनों का संयोजन होता है उसमें इनकी संख्या तक़रीबन दोगुनी हो जाती है। साल 2023 में अधिकमास के दिनों का समन्वय सावन के महीने में होगा इस कारण से सावन का महीना 2 महीनों का होगा। इस तरह का संयोग 19 वर्षो के बाद बन रहा है।

2023 के सावन महीने में कुल 8 सावन सोमवार

सावन का पहला सोमवार- 10 जुलाई
सावन का दूसरा सोमवार- 17 जुलाई
सावन का तीसरा सोमवार- 24 जुलाई
सावन का चौथा सोमवार- 31 जुलाई
सावन का पांचवा सोमवार- 07 अगस्त
सावन का छठा सोमवार- 14 अगस्त
सावन का सातवां सोमवार- 21 अगस्त
सावन का आठवां सोमवार- 28 अगस्त

ग्रहण 2023

सूर्य ग्रहण- 20 अप्रैल और 14 अक्तूबर को
चंद्र ग्रहण- 05 मई और 28 अक्तूबर को

शुभ योग 2023

गुरु पुष्य योग- 30 मार्च, 27 अप्रैल और 25 मई
रवि पुष्य योग- 08 जनवरी,10 सितंबर और 5 नवंबर

विवाह शुभ मुहूर्त 2023

हिन्दू पंचांग के मुताबिक वर्ष 2023 में शादी ब्याह के लगभग 59 शुभ मुहूर्त हैं। इनमें जनवरी में 9, फरवरी में 13, मई में 14, जून में 11, नवंबर में 5 और दिसंबर में 7 विवाह मुहूर्त हैं।

जनवरी – 15, 16, 18, 19, 25, 26, 27, 30, 31
फरवरी – 6, 7, 8, 9 10, 12, 13, 14, 15, 17, 22 23, 28
मई- 4, 6, 8, 9, 10, 11, 15, 16, 20, 21, 22, 27, 29, 30
जून- 1, 3, 5, 6, 7, 11, 12, 23, 24, 26, 27
नवंबर – 23, 24, 27, 28, 29
दिसंबर- 5, 6, 7 8, 9, 11, 15