Breaking News

हिमांशु राय के नाम से कांपते थे आतंकी, कहा था- मुंबई को हाथ लगाना मुमकिन ही नहीं ना मुमकिन है…

Posted on: 11 May 2018 10:42 by shivani Rathore
हिमांशु राय के नाम से कांपते थे आतंकी, कहा था- मुंबई को हाथ लगाना मुमकिन ही नहीं ना मुमकिन है…

मुंबई : महाराष्ट्र के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट IPS ऑफिसर हिमांशु राय ने खुदखुशी कर ली है। बता दे कि 54 वर्षीय हिमांशु ने अपने ही घर पर शुक्रवार को दोपहर 1:40 बजे अपनी सर्विस रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली, जिससे अस्पताल पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गई।

आपको बता दे कि हिमांशु वे महाराष्ट्र पुलिस में जॉइंट कमिश्नर पद पर तैनात थे। उनके पास एंटी टेरेरिस्ट स्क्वाड का भी पदभार था. कुछ समय पहले उनको कैंसर हुआ था। कहा जा रहा है कि बीमारी से परेशान होकर उन्होंने आत्महत्या का कदम उठाया। 

रॉय 1988 कैडर के आईपीएस अफसर थे. 2013 में उन्होंने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में विंदु दारा सिंह को अरेस्ट किया था। इसके अलावा दाऊद के भाई इकबाल कासकर के ड्राइवर आरिफ के गोलीबारी मामला, जे डे मर्डर केस, विजय पालांडे, लैला खान डबल मर्डर केस,आईपीएल फिक्सिंग मामले में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

ऐसे हुई करियर की शुरुआत..
इसके अलावा IPS बनने के बाद उनके करियर की शुरुआत नासिक से हुई। वे नासिक के सबसे युवा एसपी बने. बाद में अहमदनगर में एसपी, फिर डीसीपी इकॉनोमिक विंग, डीसीपी ट्रैफिक, नासिक कमिश्मर पद पर वे रह चुके हैं। 

नाम लेते ही कांप उठते थे आतंकी..
फिर 2009 में वे मुंबई एडिशनल कमिश्नर पद पर तैनात हुए. सायबर सेल, महाराष्ट्र एटीएस जैसे डिपार्टमेंट का भी उन्होंने बखूभी लीड किया। बताया जाता है जब उनके हाथ एंटी टेरेरिस्ट स्क्वाड की कमान आई तो उन्होंने कई आतंकी संगठनों के राजों को खोला। आलम यह था कि उनके नाम से ही जेल में बंद आतंकी कांप उठते थे। मुंबई हमले के बाद उन्होंने एक टीवी इंटरव्यू में कहा था कि मेरे रहते हुए मुंबई को हाथ लगाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com