हिमाचल में भारी बारिश को लेकर हाई अलर्ट जारी, इन राज्यों में भी बरसेंगे बादल

0
52

मौसम विभाग ने हिमाचल में दो दिन का भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. विभाग के मुताबिक राज्य में 25 और 26 जुलाई को भारी बारिश होगी. प्रदेश में 28 जुलाई तक मौसम खराब बना रहेगा. वहीं आज दिल्ली में भी भारी बारिश ने कई लोगों को भीषण गर्मी और उमस से राहत दिलाई है.

दिल्ली के कई इलाकों में मौसम विभाग ने भारी बारिश को लेकर हाई अलर्ट भी जारी कर दिया है. वहीं दिल्ली में रविवार को एक घंटे तक हुई तेज बारिश ने लोगों की परेशानी भी बढ़ाई थी. कई लोगों को भारी ट्रैफिक का सामना करना पड़ा था. तेज बारिश के चलते कई इलाकों में जलभराव भी हो गया था.

बता दें कि मानसून पुरे भारत में चार दिन की देर से पहुंच चूका है. मौसम विभाग के अनुसार अभी तक अनुमान से 17 फीसदी कम बारिश को रिकॉर्ड किया गया है. जबकि दिल्ली और केरल समेत पांच राज्यों में अगले 24 घंटों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.
बता दें कि, दक्षिणी पश्चिमी मानसून आमतौर पर 15 जुलाई तक पूरे भारत में पहुंच जाता है लेकिन इस साल इसमें देरी देखी गई है, जिसका प्रमुख कारण अलनीनो प्रभाव और अरब सागर में आया चक्रवात है.

बता दें कि बिहार में लगातार हो रही भारी बारिश से बाढ़ का स्तर बढ़ता जा रहा है. बाढ़ की वजह से लोग अपना घर छोड़कर सड़क के किनारे रहने पर मजबूर हो गए हैं. दरभंगा में काकीरघाटी गांव में लोगों ने बाढ़ की वजह से हाईवे के किनारे अस्थायी आश्रय स्थल बनाए हैं. पुलिस के मुताबिक, स्थानीय लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित कर दी गई है और साथ में हाईवे को भी चालू रखा गया है.

वहीं हरियाणा और पंजाब के ज्यादातर इलाकों में शनिवार को हुई भारी बारिश से तापमान सामान्य से तीन डिग्री तक नीचे गिर गया है. करनाल में 58.2 मिलीमीटर और अमृतसर में 13 मिलीमीटर बारिश हुई। चंडीगढ़ में 2 मिलीमीटर बारिश आंकी गई. पंजाब की घग्गर नदी में उफान के कारण सात जिलों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं और कपास व धान की फसल को खतरा पैदा हो गया है.

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक, बाढ़ का पानी राज्य में उतरने लगा है. वहीं बाढ़ से प्रभावित जिलों की संख्या घटकर अब 24 हो गई है. लेकिन शनिवार को भी बाढ़ की वजह से करीब 12 लोगों की मौत हो गई है. असम में बाढ़ के कारण अब कुल 59 लोगों की मौत हो चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here