बाढ़ में डूबा आधा असम, भूखे-प्यासे पांच लाख लोग

0
44

असम और अरुनाचल प्रदेश के उपरी जिलों में लगातार हो रही भारी बारिश के चलते कई नदियां उफान पर आ गई हैं. जिसकी वजह प्रदेश के करीब 17 जिलों में बाढ़ आ गई और करीब 4.5 लाख लोग बेघर हो गए. बचाव कार्य में जुटी सेना एनडीआरएफ की टीमें पानी में फंसे लोगों को बाहर निकालने में जुटी हैं.

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक, बाढ़ से करीब 17 जिलों के 4,23,386 लोगों को अपना घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा है. जबकि 16730.72 हेक्टेयर फसल बर्बाद हो चुकी है. दूसरी ओर मिजोरम में भी बाढ़ की वजह से हालात काफी गंभीर हो गए हैं. असम सर्कार की आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन का अलर्ट जारी किया है. ईटानगर में लगातार हो रही बारिश की वजह से हुए भूस्खलन में बुधवार को एक व्यक्ति की मौत हो गई.

वहीं बिहार में लगातार हो रही भारी बारिश के चलते मौसम विभाग ने 48 घंटे का अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के मुताबिक, पटना समेत कई जिलों में भारी बारिश होगी. बिहार के लगभग सभी जिलों में पिछले एक हफ्ते से लगातार बारिश हो रही है.

मौसम विभाग द्वारा जारी किये गए अलर्ट में मोतिहारी, बेतिया, सुपौल, सीतामढ़ी, मधुबनी, भागलपुर, खगड़िया, पूर्णिया और मधेपुरा में भारी बारिश होगी. भारी बारिश को देखते हुए मौसम विभाग ने पूर्वी चंपारण और मोतिहारी में धारा 144 लगा दी है. बिहार के ज्यादातार जिलों के सरकारी और निजी स्कूल आज यानी 12 जुलाई और कल यानी 13 जुलाई तक बंद रहेंगे. इससे पहले लू में गया समेत कई जिलों में धारा 144 लगाई गई थी.

वहीं अगर दिल्ली की बात करें तो दिल्ली के लोगों को मानसून के लिए अभी थोड़ा और इंतज़ार करना होगा. मौसम विभाग के मुताबिक अगले चार दिनों तक बारिश होने के कोई आसार नहीं हैं. सोमवार और मंगलवार तक बारिश होने की आशंका जताई जा रही है.

विभाग के अनुसार, धुलभरी आंधी और उमस की स्थिति बनी रह सकती है. बीते मंगलवार तक दिल्ली में 0.4 एमएम की बारिश दर्ज हुई है. जबकि मानसून पांच जुलाई को दिल्ली में दस्तक दे चूका है. मौसम विभाग के वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि बारिश न होने के कारण राजधानी में एक बार फिर से तापमान बढ़ सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here