Breaking News

आज गुप्त नवरात्री का दूसरा दिन, करें ये उपाय हो जाएंगे मालामाल

Posted on: 04 Jul 2019 13:55 by Ayushi Jain
आज गुप्त नवरात्री का दूसरा दिन, करें ये उपाय हो जाएंगे मालामाल

गुप्त नवरात्रि आषाढ़ और माघ माह के शुक्ल पक्ष में मनाई जाती है। तंत्र पूजा के लिए गुप्त नवरात्रि को बहुत खास माना जाता है। इस नवरात्री में गुप्त तंत्र क्रिया की जाती है। आषाढ़ महीने की नवरात्रि 3 जुलाई से शुरू हो चुकी है। इन नौ दिनों में मां की पूजा अर्चना की जाती है।

गुप्त नवरात्रि सिद्धि प्राप्ति के लिए विशेष माने जाते हैं। तांत्रिक भी इस समय अपनी तांत्रिक शक्तियों को बढ़ाने के लिए देवी दुर्गा के शक्ति रूप की पूजा करते हैं। जो लोग जीवन में धन, मान, सुख, संपत्ति, वैभव और सांसारिक सुखों को पाना चाहते हैं, उन्हें देवी के सिद्ध दिनों में साधना जरूर करना चाहिए। माना जाता है कि जो व्यक्ति गुप्त नवरात्री में मां का विधि विधान से पूजन करता है।

उसे जीवन के सभी सुखों की प्राप्ति होती है। गुप्त नवरात्रियों में देवी शीघ्र प्रसन्न होती हैं। माना जाता है कि जो व्यक्ति गुप्त नवरात्री में मां का विधि विधान से पूजन करता है उसे जीवन के सभी सुखों की प्राप्ति होती है। गुप्त नवरात्रियों में देवी शीघ्र प्रसन्न होती हैं इस लिए आप भी उन्हें प्रसन्न करने के लिए उनकी पूजा पुरे विधि विधान से करें।

navratri-

अगर पैसे की समस्या से जूझ रहे है तो करे ये उपाय –
गुप्त नवरात्री के दौरान किसी भी दिन उतर दिशा की और मुख करके पीले आसन पर बेठ जाए। अपने सामने तेल के 9 दीपक जला लें। दीपक में इतना तेल डाले की ये शाम तक जलते रहे। दीपक के सामने लाल चावल की एक ढेरी बनाए फिर उसपर श्री यन्त्र रख उसका कुमकुम , पुष्प, धुप तथा दीप से पूजन करे। उसके बाद श्री यंत्र को अपनी पूजा स्थल पर स्थापित करले और बची हुई सामग्री को नदी में अर्पण क्र दें। इस प्रयोग से धन की प्राप्ति हो सकती है।

विवाह में दिक्कत आ रही है तो क्या करें?
अगर विवाह में कोई बाधा आ रही है तो पूरे 9 दिन देवी को पीले फूलों की माला अर्पित करें। इस मंत्र का जाप करें- कात्यायनी महामाये, महायोगिनयधीश्वरी नन्दगोपसुतं देवी, पति में कुकू ते नम:. ऐसा करने से विवाह की समस्या दूर होगी।

संतान प्राप्ति में समस्या के लिए
अगर संतान प्राप्ति में कोई समस्या आ रही है तो 9 दिन देवी को पान का पप्ता अर्पित करें। पान का पत्ता टूना नहीं होना चाहिए। इस मंत्र का जाप करें- नन्दगोपगृह जाता यशोदागर्भ सम्भवा ततस्तौ नाशयिष्यामि विन्ध्याचलनिवासिनी। इस मंत्र का जाप करने से आपकी मनोकामना पूरी होगी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com