Gupt Navratri 2023 : 22 जनवरी से गुप्त नवरात्रि (Gupt Navratri) शुरू हो चुकी है। ज्योतिषियों के अनुसार माघ माह (Magh Month) की ये गुप्त नवरात्रि देवी व तंत्र साधकों के लिए ही होती है। लेकिन अब आम श्रद्धालुओं द्वारा भी देवी मंदिरों में पूजन अर्चन के साथ दर्शन करने का लाभ लिया जाता है। ये गुप्त नवरात्रि 22 जनवरी से शुरू होकर 30 जनवरी 2023 तक मनाई जाएगी।

गुप्त नवरात्रि के ये नौ दिन 10 महाविद्याओं को समर्पित हैं। ये महाविद्याएं मां काली, मां तारा, मां त्रिपुरासुंदरी, मां भुवनेश्वरी, मां छिन्नमस्ता, मां त्रिपुराभैरवी, मां धूमावती, मां बगलामुखी, मां मातंगी और मां कमला हैं। गुप्त नवरात्रि में जो भी जातक पूरे श्रद्धा भाव के साथ मां दुर्गा की पूजा करते हैं, उन पर दुर्गा मां प्रसन्न होकर अपनी विशेष कृपा बरसाती हैं। मान्यता है कि तंत्र-मंत्र की सिद्धि के लिए गुप्त नवरात्रि के समय की गई साधना शीघ्र फलदायी होती है।

ज्योतिषियों ने बताया कि वर्ष में दो बार आने वाली गुप्त नवरात्रि गुप्त तरह की साधना करने के लिए अति श्रेष्ठ रहती है। आपको बता दे, गुप्त नवरात्रि के दौरान कुछ कार्य वर्जित माने गए हैं, जिन्हें करने से बचना चाहिए। आज हम आपको वहीं चीज़ें बताने जा रहे है जिन्हे भूल कर भी ये 9 दिनों में नहीं करना चाहिए। इससे घर की सुख शांति तो जाती ही है साथ ही में कई समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है। तो चलिए जानते है….

Also Read – सर्दियों में इम्युनिटी को मजबूत बनाते है जिंक से भरपूर ये फ़ूड, इन 5 चीजों को बनाएं डाइट का हिस्सा

भूल से भी ना करें ये काम 

  1. इन दिनों में देर तक सोने की मनाही है।
  2. इन दिनों में पूरे नौ दिनों तक पति-पत्नी को ब्रह्माचर्य के नियमों का पालन करना अनिवार्य बताया गया है।
  3. नवरात्रि के दौरान बैंगनी, नीले या गहरे रंग के कपड़े भूल से भी नहीं पहनें।
  4. सबसे बड़ी बात घर पर भोजन में लहसुन और प्याज का प्रयोग भूल से भी ना करें।
  5. इन दिनों मांस-मदिरा का सेवन भी नहीं करना चाहिए।
  6. नवरात्रि में बेड या पलंग की जगह कुश की चटाई पर सोएं।
  7. तामसिक यानि अत्यधिक तेल व मसालेदार भोजन करने से बचें।
  8. साथ ही नवरात्रि में बाल नहीं कटवाने चाहिए, बच्चों का मुंडन संस्कार भी इस दौरान वर्जित है।
  9. इस पर्व के दौरान किसी भी महिला का भूल से भी अपमान नहीं करें।
  10. गुप्त नवरात्रि में चमड़े की चीजों से दूर रहना चाहिए।