नई दिल्ली : जीएसटी कंपोजीशन स्कीम का टैक्स चोरी के लिए दुरुपयोग हो रहा है? जीएसटी लागू होने के बाद परोक्ष कर संग्रह में अपेक्षानुरूप वृद्धि न होने की वजह से खजाना भरने में जुटे टैक्स अधिकारियों ने ऐसी आशंका जतायी है। दरअसल अधिकारियों को यह शंका इसलिए हो रही है, क्योंकि कंपोजीशन स्कीम के तहत रिटर्न दाखिल करने वाले व्यवसाइयों का प्रतिशत बढ़ने के बजाय कम हो रहा है। साथ ही कंपोजीशन स्कीम लेने वाले असेसीज के औसत टर्नओवर का आंकड़ा भी पांच लाख रुपये के आस-पास टिका है।

सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड ‘सीबीईसी’ और जीएसटीएन ने अब तक दाखिल जीएसटी रिटर्न के आधार पर आंकड़ों का जो विश्लेषण किया है उसमें ये चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में शनिवार को हुई जीएसटी काउंसिल की 26वीं बैठक में राज्यों के वित्त मंत्रियों के समक्ष इन तथ्यों को पेश किया गया। माना जा रहा है कि इन तथ्यों के आधार पर केंद्र और राज्यों के अधिकारी रिटर्न न दाखिल करने वाले व्यवसाइयों के खिलाफ कदम उठा सकते हैं।

LEAVE A REPLY