Breaking News

पहली तिमाही में ग्रेसिम ने किया शानदार प्रदर्शन

Posted on: 16 Aug 2018 21:34 by Praveen Rathore
पहली तिमाही में ग्रेसिम ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई। वित्तीय वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही में ग्रेसिम ने किया शानदार प्रदर्शन किया है चलित राजस्व 4,789 करोड़ पर रहा जो कि पिछले वर्ष की पहली तिमाही की तुलना में 75 प्रतिशत अधिक रहा। वहीं स्वचलित ईबीआइटीडीए 89 प्रतिशत अधिक बढ़कर 1,176 करोड़ हो गया. इस तिमाही के लिए 300 करोड़ से अधिक कैपेक्स- कैपिटल एक्सपेंडिचर (पूंजीगत खर्च) के बाद फ्रेश कैश फ्लो 400 करोड़ था। संयुक्त स्तर पर वित्तीय वर्ष 19 की पहली तिमाही के लिए राजस्व 71 प्रतिशत तक बढ़कर 16,857 करोड़ तक पहुँच गया और ईबीआइटीडीए 33 प्रतिशत बढ़कर 3,212 करोड़ हो गया।

वर्तमान तिमाही के परिणामों की पिछले वर्ष की तिमाही के परिणामों से तुलना नहीं है. पिछले वर्ष के परिणामों में पूर्व आदित्य बिरला नुवो लिमिटेड (एबीएनएल) के परिणाम शामिल नहीं थे, जिसका कि 1 जुलाई 2017 के प्रभाव से कम्पनी के साथ विलयन हो गया था। सम्पूर्ण वृद्धि के आधार पर 30 जून 2018 को समाप्त हुई तिमाही के लिए प्रदर्शन शानदार रहा। तिमाही के लिए स्वचलित राजस्व 3,547 करोड़ 29 प्रतिशत अधिक तथा ईबीआइटीडीए 66 प्रतिशत की दर से बढ़ा।

विस्कोज व्यवसाय: राजस्व वर्ष 2019 की पहली तिमाही में शुद्ध राजस्व 35 प्रतिशत बढ़कर रूपये 2,480  करोड़ हो गया है और ईबीआइटीडीए 68 प्रतिशत बढ़ने से 586 करोड़ हो गया है।

कैमिकल बिजनेस: राजस्व इस तिमाही में 46 प्रतिशत बढ़कर रूपये 1, 579 करोड़ हुआ एवं ईबीआइटीडीए गतवर्ष की इसी अवधि की तुलना में 103 प्रतिशत बढ़कर 495 करोड़ हुई, जिसका कारण बढ़ा हुआ विक्रय रहा।

कैपेक्स प्लान: वीएसएफ तथा कैमिकल बिजनेस दोनों ही में क्षमताओं को बढ़ाने के लिए 7,500 करोड़ रूपये के कैपेक्स प्लान (स्टैंडअलोन स्तर पर) पर कार्य जारी है। यह योजना विभिन्न प्लांट्स पर मेंटेनेंस के लिए तय की गई कैपेक्स से अलग है। वित्तीय वर्ष 19-वित्तीय वर्ष 21 के दौरान हमारे कैपिटल एक्सपेंडिचर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा आंतरिक संग्रहण द्वारा आर्थिक सहायता प्राप्त होगा।

सीमेंट सब्सिडियरी-अल्ट्राटेक: अल्ट्राटेक ने समेकित विक्रय में बढ़ोत्तरी दर्शाई है जो कि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 28 प्रतिशत की दर से बढ़कर रूपये 9,021 करोड़ एवं ईबीआईटीडीए वित्तीय वर्ष 2019 की पहली तिमाही में रूपये 1,763 करोड़ हुआ। समेकित बिक्री की मात्रा पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 18.01 एमटीपीए के आधार पर 29 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com