इंदौर: अक्षय तृतीया के पहले सोना व चांदी ने फिर चमक दिखाई है. विदेशी बाजारों के साथ देशभर में दोनों कीमती धातुए तेज हैं. विदेशी बाजार में सोना 1346 डालर प्रति औंस व चांदी 1662 सेंट पर है।सोने में मौजूदा तेजी की मुख्य वजह है अमेरिका और चीन के बीच मौजूदा तनातनी। दोनों देशों ने एक-दूसरे के यहां आयातित सामान पर शुल्क बढ़ाने की घोषणा की है जिससे आशंका हो गई है कि इस टकराव का वैश्विक व्यापार पर असर पड़ सकता है।

बरसों में तैयार वैश्विक आपूर्ति शृंखला भी इस जंग की चपेट में आ सकती है। दोनों देशों के टकराव से आर्थिक वृद्घि की रफ्तार सुस्त हो सकती है और रोजगार प्रभावित हो सकते हैं। इसी आर्थिक अनिश्चितता के कारण निवेशक भी सुरक्षित समझे जाने वाले सोने में पैसा लगाने को प्रेरित हुए हैं।

इस साल शेयर बाजार दबाव में हैं। दुनिया भर की यही स्थिति है। जमीन-जायदाद में सुस्ती है। तो विशेषज्ञों की राय है कि निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो को संतुलित बनाने के लिए उसमें सोने को शामिल करना चाहिए। सोने ने इस साल अब तक करीब 5 फीसदी की तेजी दर्ज की है। वर्ष 2002 में सोने में तेजी की शुरुआत हुई थी और वर्ष 2012 तक यह तेजी बरकरार रही। वर्ष 2013 से 2015 तक सोने ने कमजोर प्रतिफल दर्ज किया।

उसके बाद 2016 में इसके प्रतिफल में मामूली सुधार आया। 2016 में जहां इसमें 11.23 फीसदी की तेजी दर्ज की गई वहीं 2016 में 5.34 फीसदी का सुधार दर्ज किया गया। इस साल अभी तक सोने में 4 फीसदी से अधिक की तेजी आ चुकी है।

इंदौर सराफा- सोना कैडबरी (99.50) 31950, सोना टंच (पक्का रवा) 31925, कगाा रवा 31900, रुपए प्रति दस ग्राम। चांदी (9999) 39875, चांदी चौरसा (एसए) 39675, चांदी टंच (क’ची)39625, रुपए प्रति किलो रही। चांदी सिक्का 650 (प्रति नग) रहा। (भाव आरटीजीएस में)

LEAVE A REPLY